DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

लोकसभा चुनाव 2019: गुजरात में भाजपा का गढ़ बना सूरत लोकसभा क्षेत्र, 2014 भारी मतों से मिली थी जीत

amit shah addresses during his public meeting ahead of filing his nomination in ahmedabad

गुजरात की 26 लोकसभा सीटों में से एक सूरत लोकसभा सीट है। सूरत ताप्ती नदी के किनारे बसा है। वस्त्र उद्योग और कारखानों का बड़ा कारखाना होने के कारण यहां यूपी बिहार समेत देशभर के कामगार की रोटी -रोजी का जरिया है। सूरत जिले के कुछ इलाकों में खेती भी की जाती है। सूरत लोकसभा सीट के राजनीतिक हालात की बात करें तो यहां पर 1989 से लगातार हो रही भारतीय जनता पार्टी की जीत से अब इलाका पार्टी का गढ़ बन चुका है। पिछली बार भाजपा प्रत्याशी दर्शन जर्दोश को यहां से रिकॉर्ड 5 लाख से ज्यादा मतों से जीत दर्ज की थी। लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा ने एक बार फिर अपने वर्तमान सांसद जर्दोश पर भरोसा किया है तो कांग्रेस ने इस बार यहां से अशोक अधेवड़ा को मैदान में उतारा है। यहां इस बार जनता का मिजाज कैसा है यह 23 मई को चुनाव परिणाम आने के साथ ही साफ हो जाएगा।


सूरत की 2014 चुनाव की राजनीतिक स्थिति-
वर्तमान सांसद और पार्टी- दर्शन जर्दोश, भाजपा
जीत का अंतर - 5,33,190
रनर अप कैंडीडेट- नेशाद देसाई, कांग्रेस
2014 में वोट प्रतिशत- 63.87%
2014 में मतदाताओं की संख्या- 1,484,068
महिला मतदाता- 680,212
पुरुष मतदाता - 803,829

 

23 अप्रैल को मतदान-
गुजरात में करीब 4.47 करोड़ मतदाता 23 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के लिये मतदान करेंगे। निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के अनुसार राज्य में करीब 4.47 करोड़ मतदाता हैं। मतदान 51,709 बूथों पर किये जाएंगे। कुल 4,47,464,179 मतदाताओं में 2,32,56,688 पुरुष मतदाता तथा 2,14,88,437 महिला मतदाता हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019: read all about the Surat Lok Sabha constituency