DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे चरण का मतदान 18 को, आज शाम से चुनाव प्रचार का शोर बंद

पूर्व बिहार और सीमांचल की पांच सीटों पर आज यानि मंगलवार की शाम से चुनाव प्रचार थम जाएगा। दूसरे चरण में बिहार के भागलपुर, बांका, पूर्णिया, कटिहार और किशनगंज में 18 अप्रैल को मतदान होगा। पांच सीटों में कहीं सीधा तो कहीं त्रिकोणात्मक मुकाबला है। 68 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला 85 लाख 52 हजार मतदाता करेंगे।

सभी पार्टियों ने चुनाव प्रचार में ताकत झोंक दी 
पांच सीटों में महागठबंधन से दो पर राजद और तीन सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। उधर, एनडीए की तरफ से सभी सीटों पर जदयू प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। चुनाव प्रचार में सभी पार्टियों ने ताकत झोंक दी है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, डिप्टी सीएम सुशील मोदी, विरोधी दल के नेता तेजस्वी यादव, हम के जीतनराम मांझी सहित अन्य नेताओं की 15 और 16 अप्रैल को विभिन्न क्षेत्रों में चुनावी सभा होनी है। पीएम सहित अन्य नेताओं की पूर्व में चुनावी सभाएं हो चुकी हैं। प्रचार के शोर के बीच मतदाता खामोश हैं। मतदाताओं की चुप्पी ने प्रत्याशियों की परेशानी बढ़ा दी है।
 
सबसे अधिक प्रत्याशी बांका में और सबसे कम प्रत्याशी भागलपुर में
भागलपुर लोकसभा सीट पर नौ प्रत्याशी, बांका में 20, किशनगंज में 14, कटिहार में नौ और पूर्णिया में 16 प्रत्याशी चुनाव मैदान में रह गए हैं। सबसे अधिक प्रत्याशी बांका में और सबसे कम प्रत्याशी भागलपुर और कटिहार लोकसभा सीट पर भाग्य आजमा रहे हैं। 2014 लोकसभा चुनाव की तुलना में इस बार प्रत्याशियों की संख्या कम है। पिछले लोकसभा चुनाव में भागलपुर सीट से 18 प्रत्याशी, पूर्णिया में 17, बांका में 17, कटिहार में 21 और किशनगंज लोकसभा सीट पर 10 प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। 

कहीं सीधा तो कहीं त्रिकोणात्मक लड़ाई
2014 के लोकसभा चुनाव से इस बार चुनावी तस्वीर अलग है। इन पांच सीटों पर तीन गठबंधन के बीच मुकाबला था। एक गठबंधन राजद, राकांपा  और कांग्रेस का था। दूसरा भाजपा, लोजपा और रालोसपा के बीच तथा तीसरा जदयू और वामदलों का गठबंधन था। बांका में सीपीआई और अन्य चार सीटों पर जदयू प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। राजद-कांग्रेस गठबंधन के तहत किशनगंज और पूर्णिया से कांग्रेस, बांका और भागलपुर से राजद और कटिहार से राकांपा के प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। एनडीए की तरफ से सभी पांच सीटों पर भाजपा के प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतरे थे। इस बार एनडीए गठबंधन के तहत सभी सीटें जदयू के खाते में गई हैं। वहीं तीन पर कांग्रेस और दो पर राजद प्रत्याशी भाग्य आजमा रहे हैं। 2014 के चुनाव में भागलपुर और बांका राजद, किशनगंज कांग्रेस, कटिहार राकांपा और पूर्णिया की सीट जदयू के खाते में गई थी। इस बार अधिकांश सीटों पर एनडीए और यूपीए प्रत्याशी के बीच सीधा मुकाबला होने की उम्मीद है।  बांका और किशनगंज में त्रिकोणात्मक संघर्ष होने के आसार हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019: Polling for second phase on april 18 and election campaign will shutdown from 16