DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

लोकसभा चुनाव 2019: नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में होगी कड़ी सुरक्षा, अर्द्धसैनिक बल होंगे तैनात

meeting in bhagalpur for lok sabha elections 2019 poll preparation

1 / 2प्रमंडलीय आयुक्त कार्यालय सभागार में शनिवार को चुनाव की समीक्षा बैठक करते उपनिर्वाचन आयुक्त और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, बिहार साथ में भागपलुर प्रमंडल की की कमिश्नर और अन्य अधिकारी।

meeting in bhagalpur for lok sabha elections 2019 poll preparation

2 / 2प्रमंडलीय आयुक्त कार्यालय सभागार में शनिवार को चुनाव की समीक्षा बैठक के दौरान मौजूद अधिकारी।

PreviousNext

नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की जा रही है। मतदाता निर्भिक होकर मतदान करेंगे। राज्य सरकार की पुलिस पहले से इन क्षेत्रों में काम कर रही है। अर्द्धसैनिक बलों की भी तैनाती की जायेगी।  

भागलपुर आयुक्त कार्यालय के सभागार में उप चुनाव आयुक्त चन्द्रभूषण कुमार ने भागलपुर, बांका, पूर्णिया, कटिहार और किशनगंज लोकसभा क्षेत्र के चुनाव तैयारी की समीक्षा के दौरान ये बातें कही। उप चुनाव आयुक्त ने पत्रकारों से कहा कि सभी क्षेत्रों में टीम द्वारा अच्छा काम किया जा रहा है। मतदान को लेकर अच्छा माहौल पैदा करना आयोग का मुख्य मकसद है। मतदाताओं के बीच जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

शिकायत मिलने पर तत्काल कार्रवाई
सी विजिल का प्रचार-प्रसार करने का निर्देश दिया गया है। आदर्श आचार संहिता के उल्लंधन की जानकारी आम लोग इस पर दे सकते हैं। शिकायत मिलने पर तत्काल कार्रवाई की जायेगी। जिले के सीमा क्षेत्रों पर विशेष नजर रखी जाएगी। इसको देखते हुए बिहार से सटे पश्चिम बंगाल के जिलों में मतदान की तिथि एक रखी गयी है। सीमा क्षेत्र में चेक पोस्ट की व्यवस्था की गयी है। गलत काम करने वालों पर नजर रखने को कहा गया है। असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है।
 
मतदाता पर्ची पहचान पत्र नहीं होगा 
उप चुनाव आयुक्त ने कहा कि मतदान के पांच दिन पहले मतदाता पर्ची का वितरण कर दिया जाएगा। लेकिन मतदाता पर्ची पहचान पत्र नहीं होगा। मतदाता पर्ची के साथ फोटो पहचान पत्र या वैकल्पिक दस्तावेज रखना होगा। पर्ची वितरण की प्रक्रिया प्रत्याशियों के साथ साझा की जायेगी। हर बूथ पर मतदाताओं को सहयोग करने के लिए हेल्प बूथ खुलेगा। सभी बूथों पर मुलभूत सुविधायें उपलब्ध करायी जायेगी। प्रयास किया जा रहा है कि मतदाता को मतदान केन्द्र पर किसी तरह की कमी महसूस नहीं हो। पांचो लोकसभा क्षेत्रों में तैयारी पूरी करने का निर्देश दिया गया है। सभी जिले में वैसे मतदाताओं की पहचान की गयी है। जिसे मतदान करने से प्रभावित किया जा सकता है। वैसे मतदाताओं से बीएलओ और सेक्टर मजिस्ट्रेट नियमित रूप से नजर रखेंगे।

शहर में कहीं नहीं दिखे बैनर-पोस्टर
दिव्यांग मतदाताओं के लिए व्हील चेयर सहित अन्य व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया। कहा गया कि शहर में बैनर-पोस्टर नहीं दिखना चाहिए। शहर साफ दिखना चाहिए। नगर निगम से अगर अनुमति मिली है तो अधिकारी उसकी सूची लेकर सत्यापन करें। बैठक में चुनाव को लेकर सुरषा की तैयारी, जागरूकता अभियान, बूथ लोकेशन, मतदाता सूची, फोटो पहचान पत्र आदि की समीक्षा की गयी। बैठक में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बिहार एनआर श्रीनिवास, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बाला मुरगनडी,एडीजी (मुख्यालय) कुन्दन कृष्णन, आईजी ऑपरेशन सुशील मानसिंह खोपड़े, भागलपुर आयुक्त वन्दना किनी, पूर्णिया आयुक्त डॉ. सफीना एएन, भागलपुर के आईजी विनोद कुमार, डीआईजी विकास वैभव, डीएम प्रणव कुमार,एसएसपी आशीष भारती के अलावा बांका, पूर्णिया, कटिहार और किशनगंज के डीएम, एसपी सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

मुख्य बातें
पांच दिन पहले मतदाता पर्ची बांटी जाएगी
मतदान केन्द्रों पर मुलभूत सुविधायें होंगी
सीमा क्षेत्र पर विशेष नजर रखी जाएगी
सी विजिल पर आचार संहिता के उल्लंघन की जानकारी दें लोग

प्रभावित होने वाले मतदाताओं की संख्या और बूथ
जिला     बूथ की संख्या  कुल बूथों की संख्या  मतदाताओं की संख्या

भागलपुर       1318      2102           50768
बांका           373       1491           8817
किशनगंज       267       1065           10713
पूर्णिया         486         2057          14131
कटिहार         323         1929          8366

दिव्यांग मतदाताओं की संख्या
भागलपुर- 11159, बांका - 12994,किशनगंज -13444,पूर्णिया -9733 और कटिहार- 11054
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha elections 2019: paramilitary forces will be deployed in Naxal affected areas for strong security reason