DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

लोकसभा चुनाव 2019: कभी पीतल बर्तन के लिए मशहूर मिर्जापुर आज कालीन के लिए जाना जाता है, जानें यहां के बारे में

उत्तर प्रदेश की मिर्जापुर संसदीय सीट प्राचीन काल में अलौह धातु लाख-चपड़ा एवं रूई के व्यापार के साथ पीतल बर्तन उद्योग के लिए मशहूर रहा है। यह नगर वर्तमान में कालीन उद्योग के लिए पूरे विश्व में चर्चित है। मिर्जापुर में तैयार कालीन अमेरिका, जर्मनी, ब्रिटेन और फ्रांस तक फैला हुआ है।

मां विंध्यवासिनी का मंदिर जिले का प्रमुख धार्मिक स्थल है। यहां देश के ही नहीं बल्कि विदेशों में स्थित अप्रवासी भारतीय भी प्रति वर्ष बड़ी संख्या में दर्शन पूजन करने आते है। वर्ष-1952 से 2008 तक यह संसदीय सीट मिर्जापुर-भदोही संसदीय सीट के तौर पर पहचानी जाती थी। वर्ष-2008 में परिसीमन के बाद दोनों जिलों के लिए अलग संसदीय सीट गठित कर दी गयी।

वर्ष-2009 में मिर्जापुर संसदीय सीट पहली बार अस्तित्व में आया। वर्ष-2009 में इस संसदीय सीट से सपा के टिकट पर पहली बार चंबल के डाकू ददुआ के भाई बालकुमार पटेल संसाद चुने गए। वहीं वर्ष-2014 के लोकसभा चुनाव में अपनादल(एस) व भाजपा गठबंधन की उम्मीदवार अनुप्रिया पटेल सांसद चुनी गयी। 

यहां 22 अप्रैल से नामांकन शुरू होगा। मतदान अंतिम चरण में 19 मई को होगा।

वर्तमान संसाद व पार्टी-

अपना दल(एस)- अनुप्रिया पटेल। जीत का अंतर- 2 लाख 19 हजार 79 मत

रनर अप बसपा की समुंद्रा बिंद- मत-------- 217457 

वर्ष-2014 में  वोट प्रतिशत-56.44

वर्ष-2014 में मतदाताओं की संख्या-  18 लाख 6 हजार 699 

महिला मतदाताओं की संख्या- 855059

पुरूष मतदाताओं की संख्या-951640

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019 Mirzapur famous for the brassware is known today for the carpet know here about