Lok Sabha Elections 2019 Mirage in Magharan Magnificent Decision for Union Minister Anupriya Patel Fate - लोकसभा चुनाव 2019: मिर्जापुर में मगणना शुरू, केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की किस्मत का होगा फैसला DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव 2019: मिर्जापुर में मगणना शुरू, केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की किस्मत का होगा फैसला

मिर्जापुर संसदीय सीट के लिए मतगणना शुरू हो चुकी है। नगर के बथुआ स्थित राजकीय पालीटेक्निक के हाल में मतगणना हो रही है। मतगणना के लिए 70 टेबल बनाए गए है। प्रत्येक विधानसभा में 14 गणना टेबल बनाए गए है। प्रत्येक टेबल पर मतगणना के लिए एक गणना प्रेक्षक समेत चार कर्मचारियों की ड्यूटी लगायी गयी है। पहला रूझान सुबह नौ बजे तक आने की उम्मीद है।  इसके बाद प्रत्येक चक्र की गणना समाप्त होते ही मतों का ब्योरा प्रस्तुत किया जाएगा। शाम को आठ बजे तक परिणाम भी घोषित कर दिया जाएगा। 

पहले ईवीटीपीबीएस के मतों की गिनती हो रही है। इन मतों की गणना पूरी होने के बाद सामान्य मतों की गिनती शुरु होगी। जिले में पांच विधानसभा क्षेत्र है। इनमें नगर, मझवां, मड़िहान, चुनार और छानबे(सुरक्षित) शामिल है। मतगणना के लिए 380 कर्मचारियों की तैनाती की गयी है। 

भाजपा-अद(एस) गठबंधन से केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल, सपा-बसपा गठबंधन से मछली शहर के पूर्व सांसद रामचरित्र निषाद, कांग्रेस से पूर्व विधायक ललितेश पति त्रिपाठी के अलावा भाकपा माले से जीरा भारती, सत्य बहुजन पार्टी से अर्चना मिश्रा, भारतीय रिपब्लिक पार्टी इंसान से राधेश्याम इंसान, भारत प्रभात पार्टी से आदेश त्यागी, राष्ट्रीय समाज पक्ष पार्टी से दिनेश कुमार पाल व प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया से आशीष त्रिपाठी चुनाव मैदान में है।

मिर्जापुर संसदीय सीट प्राचीन काल में अलौह धातु लाख-चपड़ा एवं रूई के व्यापार के साथ पीतल बर्तन उद्योग के लिए मशहूर रहा है। यह नगर वर्तमान में कालीन उद्योग के लिए पूरे विश्व में चर्चित है। मिर्जापुर में तैयार कालीन अमेरिका, जर्मनी, ब्रिटेन और फ्रांस तक फैला हुआ है।

मां विंध्यवासिनी का मंदिर जिले का प्रमुख धार्मिक स्थल है। यहां देश के ही नहीं बल्कि विदेशों में स्थित अप्रवासी भारतीय भी प्रति वर्ष बड़ी संख्या में दर्शन पूजन करने आते है। वर्ष-1952 से 2008 तक यह संसदीय सीट मिर्जापुर-भदोही संसदीय सीट के तौर पर पहचानी जाती थी। वर्ष-2008 में परिसीमन के बाद दोनों जिलों के लिए अलग संसदीय सीट गठित कर दी गयी।

वर्ष-2009 में मिर्जापुर संसदीय सीट पहली बार अस्तित्व में आया। वर्ष-2009 में इस संसदीय सीट से सपा के टिकट पर पहली बार चंबल के डाकू ददुआ के भाई बालकुमार पटेल संसाद चुने गए। वहीं वर्ष-2014 के लोकसभा चुनाव में अपनादल(एस) व भाजपा गठबंधन की उम्मीदवार अनुप्रिया पटेल सांसद चुनी गयी। 

यहां 22 अप्रैल से नामांकन शुरू होगा। मतदान अंतिम चरण में 19 मई को होगा।

वर्तमान संसाद व पार्टी-

अपना दल(एस)- अनुप्रिया पटेल। जीत का अंतर- 2 लाख 19 हजार 79 मत

रनर अप बसपा की समुंद्रा बिंद- मत-------- 217457 

वर्ष-2014 में  वोट प्रतिशत-56.44

वर्ष-2014 में मतदाताओं की संख्या-  18 लाख 6 हजार 699 

महिला मतदाताओं की संख्या- 855059

पुरूष मतदाताओं की संख्या-951640

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019 Mirage in Magharan Magnificent Decision for Union Minister Anupriya Patel Fate