DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

लोकसभा चुनाव 2019 : मेनका गांधी ने समर्थकों संग निकाला रोड शो, क‍िया नामांकन 

1 / 2

2 / 2

PreviousNext

सुलतानपुर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी मेनका संजय गांधी ने समर्थकों की भारी भीड़ के साथ रोड शो करते हुए गुरुवार को अपना नामांकन दाखिल किया।  चुनाव आयोग की ओर से उन पर प्रचार के 48 घंटे के प्रतिबंध की समय सीमा समाप्त होने पर सुबह दस बजे के बाद नामांकन जुलूस में शामिल होने को अपने आवास से निकलीं। दरियापुर से जुलूस में खुली जीप में सवार हुईं। जीप पर आगे निषाद पार्टी के राष्टीय अध्यक्ष संजय निषाद ने स्थान ले रखा था। 

नामांकन के लिए दरियापुर से जब मेनका का जुलूस आगे बढ़ा तो रास्ते में गुलाब की पंखुडियों की बौछार कर जगह-जगह उनका स्वागत किया गया। रोड शो के दौरान स्वागत में तिरंगा ध्वज भी लहराया गया। कलक्ट्रेट से पहले डाकखाना चौराहे पर पुलिस उनके साथ चल रही भीड़ को रोकने का प्रयास किया तो भीड़ ने पुलिस वालों से धक्का मुक्की की। काफी मशक्कत के बाद वहां से सिर्फ मेनका की गाडी को अंदर आने दिया गया। इस बीच बैरियर खुलते ही सैकड़े की संख्या में मेनका गांधी  के समर्थक बैरियर पार कर गए। नगर पालिका के पास दूसरे बैरियर पर मेनका को गाड़ी से उतरना पड़ा। वहां से वे पैदल ही नमांकन करने के लिए कलक्ट्रेट परिसर में पहुंची।

पत्रकारों ने इस दौरान उनके साथ नामांकन कक्ष में जाने की कोशिश की तो पुलिस वालों से उनकी झड़प हो गई। इसकी सूचना मिलने पर एडीएम प्रशासन हर्षदेव पांडेय दौड़ते हुए मौके पर पहुंचे,बिगड़े माहौल को सभाला। दो-तीन फोटो व टीवी पत्रकारों को अंदर लिए जाने के बाद मामला शांत हो सका। 

मेनका गांधी नामांकन अधिकारी के कक्ष में करीब आधा घंटा रहीं। जहां समर्थकों व प्रस्तावकों के साथ चार सेटों में अपना दाखिल किया। उसके साथ आवश्यक अभिलेख देने के बाद वापस लौटीं। उन्होंने पत्रकारों से कुछ क्षण बात की। कहा कि चुनाव आयोग की ओर से प्रतिबंध के दौरान अपना समय अध्ययन करके बिताया। सवाल के जवाब में कहा कि मुहुर्त का समय कहीं निकल न जाए इस कारण निर्धारित रोड शो को बीच में छोड़ कलक्ट्रेट पहुंचना पड़ा। उसके बाद पहां से वे सभा स्थल सुपर मार्केट के लिए रवाना हो गईं। जहां पं. श्याम प्रसाद मुखर्जी व पंडित दीन दयाल उपाध्याय की प्रतिमा को माल्यापर्ण किया। 

मेनका गांधी ने अपने अति संक्षिप्त भाषण में कहा कि वह यहां पर एक मां के रुप में चुनाव मैदान में हैं। वायदा किया है कि वह मां के रुप में सभी जाति और कौम के हितों को सुरक्षित रखने को संकल्पित हैं। उन्होंने पांच मिनट से भी कम समय में भाषण खत्म करते हुए कहा कि सुलतानपुर भगवान कुश की नगरी है। इसका नाम कुशभवनपुर होना चाहिए। कहा कि यह स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का यह जिला है। कहा कि पीएम की नजर ऐसे क्षेत्रों पर हैं जहां पर 67 फीसदी से अधिक मतदान हो रहा है। इसलिए आप भी यह आंकड़ा पार करें। कहा कि मै सांसद तो बनूंगी पर, मंत्री बनना मेरे हाथ में नहीं हैं। 

उधर, मेनका गांधी से पहले सभा में निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय निषाद ने कहा कि दूसरे दलों ने निषाद समाज को छला है। चुनाव में किसी दल ने एक भी टिकट इस समाज को नहीं दिया। भाजपा ने पांच टिकट दिए है। सपा प्रमुख अखिलेश और बसपा प्रमुख मायावती निषादों का वोट लेकर हीरो हो गए, निषादों को जीरो कर दिया। कहा कि सपा ने गायत्री प्रजापति को धोखा दिया। मुलायाम ने फुलन देवी की हत्या की जांच तक नहीं होने दी। कहा, देश में 14 निषाद हैं। सुलतानपुर में इनकी संख्या पौने दो लाख हैं। हमारी पार्टी का दिल सुलतानपुर है। यहां से बिरादरी का एक एक वोट कमल का होगा। उन्होंने कहा निषाद राज और राम राज रथ के दो पहिए हैं। भाजपा और पीएम मोदी और सीएम योगी सर्व समाज की सुरक्षा और विकास के लिए काम कर रहे हैं।  
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019: Maneka Gandhi released road show with supporters Nomination