Lok Sabha elections 2019 in UP poll math Debate over Congress role after Priyanka comment - लोकसभा चुनाव: प्रियंका गांधी की टिप्पणी के बाद यूपी के चुनावी गणित में फंसी कांग्रेस की भूमिका DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव: प्रियंका गांधी की टिप्पणी के बाद यूपी के चुनावी गणित में फंसी कांग्रेस की भूमिका

the sp-bsp alliance is also not contesting in amethi where congress president rahul gandhi is in the

उत्तर प्रदेश के पूर्वोत्तर क्षेत्र की महत्वपूर्ण 41 लोकसभा सीटों पर होने जा रही वोटिंग से ठीक पहले प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) की कांग्रेस के चुनावी गणित को लेकर रणनीति ने उलझनें बढ़ाकर रखी दी है। उनके उस दावे पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं जिसमें प्रियंका ने कहा था कि कांग्रेस कुछ सीटों पर बीजेपी के वोट काटकर सपा-बसपा गठबंधन (SP-BSP alliance) को फायदा पहुंचा रही है।

अमेठी में प्रियंका के दिए बयान पर सपा-बसपा का सवाल

अमेठी में प्रचार के दौरान पूर्व यूपी की प्रभारी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका ने कहा कि जिन सीटों पर उनकी पार्टी के उम्मीदवार मजबूत नहीं हैं, वहां पर वे बीजेपी के वोटों में सेंध लगाकर विपक्षी सपा-बसपा गठबंधन को मजबूत किया जा रहा है।

प्रियंका की यह टिप्पणी बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को नागवार गुजरी। मायावती ने आरोप लगाया कि दोनों ही राष्ट्रीय पार्टियों के बीच ‘आपसी समझौता’ है, जबकि अखिलेश ने कहा कि कांग्रेस को जनता का समर्थन नहीं मिलने के चलते वह ऐसा ‘तर्क’ दे रही है।

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019 : भाषा के आधार पर मतदाताओं को साधने की जुगत

कई सीट पर कांग्रेस से सपा-बसपा को नुकसान का डर

उत्तर प्रदेश में वोटों का गणित काफी का अहम है, जहां पर संयुक्त विपक्षी दलों के उम्मीदवार ने उप-चुनाव में तीन लोकसभा सीटें बीजेपी से छीनी थी। उनमें एक सीट बीजेपी का गढ़ माने जानेवाली गोरखपुर लोकसभा सीट थी (जहां विपक्षी उम्मीदवार ने 21 हजार से भी ज्यादा वोटों के साथ जीत दर्ज की।

लेकिन, इस वक्त गोरखपुर में बीजेपी, कांग्रेस और सपा-बसपा के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है, जिसके चलते कांग्रेस के मैदान में उतरने के बाद होनेवाले नुकसान पर कयासबाजी की जा रही है।

मायावती ने किया वोटरों को आगाह

मायावती ने मतदाताओं को आगाह करते हुए कहा कि अगर वे कांग्रेस का समर्थन करते हैं तो इसका सीधा फायदा बीजेपी ले जाएगी। उन्होंने कहा- “लोगों को कांग्रेस का समर्थन कर अपना वोट नहीं खराब करना चाहिए। उन्हें बीजेपी को हराने के लिए सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार का समर्थन करना चाहिए।”

उधर, अखिलेश यादव ने भी कांग्रेस के दावे को सिरे से खारिज कर दिया है। अखिलेश ने कहा- मैं ऐसा नहीं मानता हूं कि कांग्रेस ने कहीं भी कमजोर उम्मीदवार उतारे हैं। ऐसा कोई पार्टी नहीं करती है। जबकि, बीजेपी ने कहा कि यह इस बात का संकेत है कि कांग्रेस ने अपने ‘कमजोर संगठन’ की बात मान ली है।

हालांकि, बाद में प्रियंका गांधी ने गुरूवार को अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा- “मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया। मैनें यह कहा था कि कांग्रेस लड़ रही है और बीजेपी को फायदा पहुंचाने से बेहतर मैं जान देना पसंद करूंगी।”

ये भी पढें: मैदान के महारथी : दिल्ली में कांग्रेस का सबसे भरोसेमंद चेहरा हैं शीला

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha elections 2019 in UP poll math Debate over Congress role after Priyanka comment