DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

लोकसभा चुनाव 2019: गाजीपुर में ईवीएम की सुरक्षा को लेकर जिच, गठबंधन प्रत्याशी का धरना

चुनाव के बाद ईवीएम की सुरक्षा को लेकर जिच शुरू हो गई है। गठबंधन प्रत्याशी अफजाल अंसारी ने मंडी में बने स्ट्रांग रूम के सभी प्वाइंट पर निगरानी के लिए अपने लोगों की मौजूदगी की मांग करते हुए बाहरी जनपदों से ईवीएम आने की आशंका जताई। जिलाधिकारी ने तीन लोगों को मंडी  परिसर में रहने की बात कही लेकिन अफजाल नौ लोगों पर अड़े रहे। इसे लकेर देर रात तक हाईवोल्टेड  हंगामा चलता रहा और सैकड़ों समर्थक जुटे रहे। गाजीपुर लोकसभा सीट पर बसपा प्रत्याशी अफजाल अंसारी और केंद्रीय मंत्री भाजपा प्रत्याशी मनोज सिन्हा के बीच मुख्य़ मुकाबला है। 

ईवीएम जमा होने के बाद विपक्षी दलों ने प्रशासन पर पक्षपात का आरोप लगाकर विरोध जताया। गठबंधन प्रत्याशी अफजाल अंसारी ने जिलाधिकारी को प्रार्थनापत्र देकर ईवीएम स्ट्रांग रूम के बाहर हर प्वाइंट पर अपने तीन लोगों की तैनाती की अनुमति मांगी। जिलाधिकारी ने इस पर एक प्वाइंट पर एक व्यक्ति की मौजूदगी की बात कही। देर शाम अफजाल अंसारी समर्थकों के साथ जंगीपुर स्थित स्ट्रांग रूम पहुंचे और मंडी के बाहर धरने पर बैठ गए। उनके समर्थन में सुभासपा के विधायक त्रिवेणी राम भी मौके पर पहुंच गए।

अफजाल की एसओ जंगीपुर से नोकझोंक हुई तो उन्होंने डीएम से शिकायत दर्ज कराई। पुलिस और प्रशासन पर पक्षपात और अभद्र व्यवहार का आरोप लगाते हुए ईवीएम की निगरानी की बात कही। धरने और हंगामे की सूचना पर सीओ सिटी और एसडीएम सदर भी  मौके पर पहुंच गए। उन्होंने निर्वाचन आयोग की गाइड लाइन और कानून व्यवस्था की बात कही तो अफजाल अंसारी ने हर प्वाइंट पर तीन लोगों की तैनाती की बात कही। इस दौरान जिले भर से अफजाल अंसारी के समर्थक धरने में जुटने लगे, वहीं सुरक्षा के मद्देनजर फोर्स भी मंगाया गया। जिला निर्वाचन अधिकारी के बालाजी ने बताया कि नियमानुसार निगरानी के लिए तीन लोगों की अनुमति दी जा रही है और अफजाल अंसारी 9 लोगों को निगरानी में रखना चाहते हैं। 14 प्रत्याशियों के आधार पर बड़ी संख्या हो जाएगी और स्ट्रांग रूम की सुरक्षा को खतरा होगा। हमारी बात चल रही है और सकारात्मक परिणाम मिलेगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019 Due to the safety of EVM in Ghajipur the alliance of coalition candidate