DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

लोकसभा चुनाव 2019: प्रज्ञा ठाकुर के पक्ष में प्रचार के लिए बीजेपी नेता ने लगाई ये शर्त

pragya thakur is contesting against congress candidate and former chief minister digvijaya singh  bh

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janata Party) की नेता फातिमा रसूल ने कि वह साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के पक्ष में तभी चुनाव प्रचार करेगी अगर भोपाल सीट से पार्टी उम्मीदवार के तौर पर उतरी साध्वी अपने उस बयान के लिए माफी मांगती हैं जो उन्होंने मुस्लिम और पूर्व एटीएस चीफ हेमंत करकरे को लेकर दिए थे।

प्रज्ञा कांग्रेस उम्मीदवार और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनावी मुकाबले में उतरीं हैं। सात चरणों में होने जा रहे लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 12 मई को भोपाल संसदीय सीट पर चुनाव होना है।

प्रज्ञा ने करकरे पर बयान देकर राजनीतिक विवाद पैदा कर दिया था। वह 2008 में मुंबई आतंकी हमले के दौरान मुकाबला करते हुए शहीद हो गए थे। प्रज्ञा ने कहा था कि उन्होंने करकरे की मौत से ठीक एक महीने पहले 'श्राप' दिया था। लेकिन, अपने बयानों की चौतरफा आलोचनाओं में घिरी देख प्रज्ञा ने अपने बयान वापस ले लिए। उन्होंने कहा कि ऐसा बयान मालेगांव ब्लास्ट केस में गिरफ्तार के बाद किए गए टॉर्चर के चलते दिया था।

ये भी पढ़ें: PM मोदी ने नामांकन कक्ष में आते ही पहले अन्नपूर्णा शुक्ला के छूए पैर

भारतीय जनता पार्टी ने प्रज्ञा के इस बयान से खुद को किनारा करते हुए कहा कि वह करकरे को शहीद मानती है और यह उनका व्यक्तिगत बयान है। बीजेपी ने कहा- ‘जिस तरह का टॉर्चर मानसिक और शारीरिक तौर पर किया गया इसकी पीड़ा के चलते उन्होंने यह बयान दिया होगा।’

2008 में हुए मालेगांव बम विस्फोट में छह लोग मारे गए थे जबकि 100 से ज्यादा घायल हुए थे। इस केस में प्रज्ञा समेत सात लोगों को आरोपी बनाया गया था। करकरे उस जांच की अगुवाई कर रहे थे और उस विस्फोट में जिस मोटरसाइकिल का इस्तेमाल किया गया वह प्रज्ञा ठाकुर के नाम से रजिस्टर्ड थी। इसलिए, प्रज्ञा की गिरफ्तारी की गई थी।

ये भी पढ़ें: साध्वी प्रज्ञा ने दिग्विजय को आतंकी बताया

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019 BJP miffed as Muslim leader refuses to campaign for Pragya Thakur