DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

Lok Sabha Elections 2019- चुनावी ड्यूटी से कन्नी काट रहे थे 150 कर्मचारी

दिल की बीमारी बताकर चुनावी डयूटी से भाग रहे 150 कर्मी मेडिकल जांच में पकड़े गए हैं। इन लोगों ने चुनावी ड्यूटी से अलग रखने का आग्रह किया था। कर्मचारी काम करने में खुद को अक्षम बता रहे थे लेकिन मेडिकल टीम ने उन्हें इस अवस्था में काम करने की सलाह दे डाली। अब ऐसे कर्मचारियों को सुदूर और संवेदनशील बूथों पर भेजने की तैयारी चल रही है। 

पटना साहिब, पाटलिपुत्र और मुंगेर संसदीय क्षेत्र के बाढ़ और मोकामा में करीब 36 हजार कर्मचारियों को चुनावी ड्यूटी पर लगाया गया है। इनमें 600 ने गंभीर बीमारी होने का कारण बताकर चुनावी ड्यूटी से अलग रखने के लिए डीएम से आग्रह किया था। इसके बाद मेडिकल टीम ने सभी बीमार कर्मचारियों की गंभीरता से जांच की। पता चला कि 149 ऐसे हैं जिन्हें कोई ऐसी बीमारी नहीं है, जिससे वे काम नहीं कर सकते हैं। ज्यादातर का ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ था। मंगलवार को बीमार कर्मचारियों की मेडिकल जांच रिपोर्ट जारी की गई। इसमें 458 को कैंसर, चेस्ट, बड़ी सर्जरी आदि होने के कारण चुनावी ड्यूटी से अलग रखने की सलाह दी गई है। मेडिकल बोर्ड ने जांचोपरांत 149 कर्मचारियों में कोई बीमारी नहीं पाई। अधिकारियों का कहना है कि ऐसे कर्मचारियों में ज्यादातर ने दिल की बीमारी बताया था। जांच के बाद डीएम ने ऐसे कर्मचारियों की डयूटी लगाने के आदेश दिये हैं।  

Lok Sabha Elections 2019- बिहार में चौथे चरण से शुरू होगी भाजपा की अग्निपरीक्षा

पैरवी भी काम नहीं आई
चुनावी डयूटी से अलग रखने के लिए कई कर्मचारियों ने विभिन्न पार्टियों के नेताओं से पैरवी की थी। कई नेताओं ने प्रशासनिक अधिकारियों को फोन भी किया लेकिन डीएम का सख्त आदेश था कि वैसे ही कर्मचारियों को चुनावी डयूटी से अलग रखा जाएगा जो सचमुच में गंभीर रूप से बीमार हैं। इधर जिन कर्मचारियों को बीमार घोषित किया गया है उनका नाम हटाने के लिए एनआईसी को पत्र भेजा गया है। 

मेडिकल बोर्ड के सामने गए तो सीने में और तेज हो गया दर्द 
कुछ कर्मचारियों को देख मेडिकल बोर्ड के डॉक्टर और वहां उपस्थित अधिकारी भी हैरान रह गए। जांच के पहले वे सामान्य तौर पर दिख रहे थे लेकिन जैसे ही मेडिकल बोर्ड के सामने आए तो सीने में दर्द तेज हो गया। इस पर डॉक्टर भी गंभीर हो गए तथा ऐसे कर्मचारियों की गंभीरता से जांच की। बाद में पता चला कि ऐसे कर्मचारियों को कोई ऐसी बीमारी नहीं है जिससे वे काम नहीं कर सकते हैं।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 150 employees were not willing to do duty in elections