lok Sabha election results 2019 prime minister narendra modi dominated all issues - lok Sabha election results 2019 : प्रधानमंत्री सभी मुद्दों पर हावी रहे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

lok Sabha election results 2019 : प्रधानमंत्री सभी मुद्दों पर हावी रहे

pm narendra modi

लोकसभा चुनावों में जमीनी मुद्दों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि हावी रही है। मोदी के नेतृत्व में लगातार दूसरी बार लोकसभा चुनावों में शानदार जीत से साबित हो गया है कि विपक्ष ने भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, किसानों की दुर्दशा, नोटबंदी, राफेल, जीएसटी आदि जिन मुद्दों को इन चुनावों में उठाया था, उन्हें जनता ने पूरी तरह से नकार दिया। 

राष्ट्रवाद और जन योजनाओं से लाभ : भाजपा की जीत से जाहिर है कि इन चुनावों में मोदी के कुशल नेतृत्व, राष्ट्रवाद के एजेंडे, आतंकियों के खिलाफ की गई एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक का अहम योगदान रहा। मोदी सरकार के पिछले पांच सालों के कामकाज को देखें तो उसमें गरीबों, महिलाओं, ग्रामीणों पर ध्यान केंद्रित किया गया है। उज्ज्वला जैसी योजनाएं, गरीबों के लिए पांच लाख की बीमा योजना, सभी गांवों में बिजली पहुंचाना, आवास योजना, सवर्णों को नौकरियों में दस फीसदी आरक्षण जैसे फैसलों ने जनता को प्रभावित किया।

एयर स्ट्राइक से बढ़त :  पुलवामा में हुए आतंकी हमले और उसके जवाब में बालाकोट में वायुसेना की एयर स्ट्राइक और उसके बाद पायलट अभिनंदन की वापसी प्रकरण ने भाजपा को अचानक काफी बढ़त दे दी। इस फैसले के लिए मोदी के नेतृत्व की देश भर में सराहना भी हुई।

‘न्याय’ का दांव भी नहीं चला: कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में सत्ता में आने पर गरीबों के लिए 72 हजार रुपये सालाना देने की योजना का ऐलान किया था, लेकिन मोदी के आगे यह दांव भी नहीं चला। वजह साफ थी। एक तो लोगों को कांग्रेस के सत्ता में आने की उम्मीद नहीं थी, क्योंकि यह पहले से माना जा रहा था कि केंद्र में एनडीए सरकार बन रही है। दूसरे, चुनाव का पूरा केंद्र बिंदु नरेंद्र मोदी बन गए थे। इसलिए लुभावने वादे, दलों की नीतियां आदि कारगर नहीं रही। 

हिंदुत्व के मुद्दे को हवा : चुनाव में शुरू से भाजपा को मोदी के नेतृत्व का फायदा मिलता हुआ दिख रहा था। इसलिए भाजपा ने भी अभियान के केंद्र में मोदी और पांच साल की उपलब्धियों को रखा। गरीबों के लिए किए गए कार्यों को रखा। इससे उत्तर प्रदेश में जातीय समीकरणों को तोड़ने में मदद मिली। भाजपा कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती थी। इसलिए हिन्दुत्व के मुद्दे को हवा देने के लिए साध्वी प्रज्ञा को मैदान में उतारा गया। बंगाल समेत कई राज्यों में में इस कदम ने भी असर डाला है।

इसे भी पढ़ें : महाविजेता मोदी ने कैसे रचा इतिहास और क्या-क्या बने रिकॉर्ड, 10 बातें

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lok Sabha election results 2019 prime minister narendra modi dominated all issues