DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

Lok Sabha Elections Result 2019 : नतीजे से पहले भगवान के दर पहुंचे उम्मीदवार

ravi kishan photo ani

लोकसभा चुनाव के वोटों की गिनती आठ बजे से शुरू होगी। कई जगह प्रत्याशियों के समर्थकों ने मतगणना स्थल के बाहर ही रात बिताई। सुबह सुबह कई प्रत्याशियों ने मंदिर में जाकर पूजा अर्चना की और जीत के लिए  भगवान से आर्शीवाद लिया। 

भोपाल से बीजेपी की प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने सूर्य नमस्कार के साथ अपने दिन की शुरुआत की। चुनाव नतीजों के लिए खुद को तैयार करने के लिए उन्हाेंने आध्यात्म का सहारा लिया। बता दें कि चुनाव के दौरान साध्वी प्रज्ञा ने गोडसे को लेकर बयान देने के बाद विवादों में आ गई थीं। उनके उस बयान की पीएम नरेंद्र मोदी ने भी आलोचना की थी, जिसके बाद प्रज्ञा ठाकुर मौन व्रत पर हैं।

गोरखपुर से बीजेपी के उम्मीदवार और एक्टर रविकिशन ने भी मतगणना शुरू होने से पहले भगवान का आर्शीवाद लिया और जीत की कामना की। गोरखपुर लोकसभा सीट पर सातवें चरण में 19 मई 2019 को वोट डाले गए थे। इस सीट से उत्तर प्रदेश केे सीएम योगी आदित्यनाथ लोकसभा सांसद रह चुके हैं। साथ ही बीजेपी का गढ़ होने की वजह से भी यहां के परिणाम बेहद खास होंगे।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने मतगणना से पहले बेंगलुरु के मंदिर में पूजा की। कर्नाटक के हासन से जनता दल सेक्यूलर कैंडिडेट निखिल कुमारस्वामी ने मैसूर के चामुंडेश्वरी मंदिर में जाकर मां की आराधना की।

केरल में तिरुवनंतपुरम से बीजेपी प्रत्याशी के.राजशेखरन ने अय्यागुरु आश्रम में जाकर ईश्वर का आर्शीवाद लिया। राजशेखरन यहां से कांग्रेस के शशि थरूर और लेफ्ट डेमोक्रेटिेक फ्रंट के सी. दिवाकरन के खिलाफ चुनाव मैदान में थे।

 

 

कई जगह पार्टी समर्थकों ने अपनी-अपनी पार्टी को जिताने के लिए हवन किया। वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थकों ने सबसे बड़ी जीत के लिए यज्ञ किया। वहीं भोपाल में कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के समर्थकों ने भी पूजा की। 

इसे भी पढ़ें : UP Lok Sabha Election Results: यूपी में फिर दिखेगा BJP का जादू या SP-BSP गठबंधन के पास होगी केंद्र की चाबी, नतीजे कुछ देर में

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lok Sabha election results 2019 candidates visiting temples before counting begins