DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

Lok sabha election Result 2019- नवादा: 3 राउंड तक LJP के चंदन RJD की विभा देवी से 27281 वोट से आगे

केएलएस कॉलेज में जारी मतगणना के तीसरे राउंड तक एनडीए से लोजपा प्रत्याशी चंदन सिंह अपने नजदीकी प्रतिद्वंद्वी महागठबंधन की राजद प्रत्याशी विभा देवी से 27281 मतों से आगे चल रहे हैं। चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच जारी मतगणना में शुरू से ही चंदन सिंह ने बढ़त बना रखा है। 

दूसरे राउंड के बाद राजद प्रत्याशी विभा देवी नैतिक रूप से अपनी पराजय स्वीकारते हुए मतगणना केन्द्र से उठ कर बाहर चली गयीं। अंतिम सूचना मिलने तक लोजपा प्रत्याशी को 64896 जबकि राजद प्रत्याशी विभा देवी को 37635 वोट मिले थे। 9060 मतदाताओं ने नोटा बटन दाब कर सभी प्रत्याशियों का विरोध जताया है। वहीं नवादा विधानसभा के उप चुनाव में जदयू के कौशल यादव महागठबंधन के हम प्रत्याशी धीरेंद्र कुमार मुन्ना से 3100 वोट से आगे चल रहे हैं। कौशल यादव को 7103 और मुन्ना को 4236 वोट तीसरे राउंड तक मिले। 

प्रत्येक विधानसभा के लिए बनाए गए हैं 14 टेबल 
प्रत्येक विधान सभा के मतों की गिनती 14 टेबल पर होगी। इसके अतिरिक्त एआरओ के लिए एक टेबल लगाए गए हैं। पोस्टल बैलेट की गिनती के बाद ईवीएम के मतों की गिनती होगी। नवादा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के तहत पड़ने वाले सभी विधानसभा क्षेत्र एवं विधानसभा उपचुनाव के लिए विभिन्न हॉल में अलग-अलग मतगणना कराई जाएगी। हर विधानसभा क्षेत्र के लिए एक-एक सहायक निर्वाचन पदाधिकारी की नियुक्ति की गयी है। विधानसभा वार सहायक निर्वाचन अधिकारी की देखरेख में मतगणना का कार्य 14 टेबल पर होगा। यानी प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एक राउंड में 14 मतदान केंद्रों की मतगणना संपन्न होगी। मतगणना के लिए 1-1 मतगणना पर्यवेक्षक, मतगणना सहायक व गणना माइक्रो प्रेक्षक की नियुक्त है। कुल 445 मतगणना कर्मी मतगणना के दौरान कार्यरत रहेंगे, जिसमें माइक्रो ऑब्जर्बर, काउन्टिंग सुपरवाइजर एवं काउन्टिंग असिस्टेंट आदि शामिल हैं। ईवीएम, वीवीपैट, बैलेट व पोस्टल बैलेट के माध्यम से गणना की जानी है। सभी सुविधाओं को चुस्त-दुरुस्त कर लिया गया है। विधि व्यवस्था उप विकास आयुक्त के निर्देशन में सुचारू रूप से संचालित होगा। जबकि साफ-सफाई, चिकित्सा व्यवस्था, अग्निशाम आदि भी दुरुस्त कर लिए गए हैं। मतगणना का रुझान दस बजे से मिलने लगेगा।  

नवादा लोक सभा क्षेत्र पहले कांग्रेस और फि र सीपीआईएम का गढ़ माना जाता था, लेकिन 1996 के लोक सभा चुनाव में भाजपा ने यहां सेंध लगाई। इस चुनाव में भाजपा के कामेश्वर पासवान ने सीपीआईएम के प्रेमचंद राम को करारी मात दी। उन्होंने करीब 97 ह जार वोटों से हराक र नवादा में पह ली बार कमल खिलाया। हालांकि दो साल बाद ही 1998 में लोक सभा चुनाव हुआ, जिसमें भाजपा ने अपनी सीट गंवा दी। राजद की मालती देवी ने करीब 14 ह जार वोटों से कामेश्वर पासवान को हरा पहली बार नवादा लोक सभा में राजद का खाता खोला। बता दें कि 1957 से पह ले नवादा गया पूर्वी संसदीय सीट का हिस्सा था। जिले के हिसुआ प्रखंड स्थित मंझवे निवासी सत्यभामा देवी व रामधनी दास संयुक्त रूप से पह ले सांसद निर्वाचित हुए। दोनों कांग्रेस के ही सिपाही थे। 1957 में नये परि सीमन के तहत संसदीय क्षेत्र संख्या- 34 के रूप में नवादा लोक सभा क्षेत्र का गठन हुआ। 

दस साल से भाजपा के कब्जे में है यह सीट
दस साल से यह सीट भाजपा के खाते में है। सामान्य सीट होने के बाद 2009 में डॉ. भोला सिंह ने भाजपा के टिकट पर जीत दर्ज की थी। उनके बाद जीत को निरंतर ता देते हुए मोदी लहर में 2014 में गिरिराज सिंह ने इस सीट पर कब्जा जमाया। इससे पहले कामेश्वर पासवान ने भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर 1996, मालती देवी ने राष्ट्रीय जनता दल के टिकट पर 1998 एवं संजय पासवान ने भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर 1999 में जबकि वीर चंद्र पासवान ने राष्ट्रीय जनता दल के टिकट पर 2004 में परचम लहराया था। इसके बाद 2009 के परि सीमन में इसका क्रमांक संसदीय सीट संख्या- 39 हो गया और इसे सामान्य सीट में बदल दिया गया।

कांग्रेस ने जीता था पहला चुनाव
1962 में यह संसदीय क्षेत्र संख्या- 42 (सुरक्षित) हो गया। रामधनी दास इस चुनाव में इंडियन नेशनल कांग्रेस की टिकट पर सांसद चुने गए। उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी जेएस के अकलू मांझी को करीब 71 हजार वोटों से करारी शिकस्त दी थी। इसके बाद एमएसपीएन पुरी ने निर्दलीय के रूप में 1967, सुखदेव प्रसाद वर्मा ने भार तीय राष्ट्रीय कांग्रेस के टिकट पर 1971, सूर्य नारायण सिंह ने भारतीय लोकदल के टिकट पर 1977, कुंवर राम ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के टिकट पर 1980 और 1984 जबकि प्रेम प्रदीप ने भार तीय कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी के टिकट पर 1989 में जीत दर्ज की थी। बता दें कि कांग्रेस के कुंवर राम के बाद कोई भी सांसद लगातार दो बार चुनाव नहीं जीत पाया। 

कौन जीते कौन हारे  
2014

गिरिराज सिंह भाजपा 390,248
राज बल्लभ प्रसाद राजद 250,091
 
2009 
भोला सिंह भाजपा 130,608
वीणा देवी लोजपा 95,691 

2004 
वीर चंद्र पासवान राजद 489,992
संजय पासवान भाजपा 433,986 

1999 
संजय पासवान भाजपा 453,943
विजय चौधरी  राजद 369,858 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok sabha election Result 2019 Live update Live Coverage Nawada loksabha seat result