Lok sabha election Result 2019 Live update Live Coverage Hajipur loksabha seat result - Lok sabha election Result 2019- हाजीपुर: मतगणना की तैयारी पूरी, सुबह 5 बजे पहुंचेंगे मतगणना कर्मी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Lok sabha election Result 2019- हाजीपुर: मतगणना की तैयारी पूरी, सुबह 5 बजे पहुंचेंगे मतगणना कर्मी

                                                                        5

हाजीपुर सुरक्षित संसदीय निर्वाचन क्षेत्र की मतगणना की प्रशासनिक तैयारी पूरी कर ली गई है। चुनाव आयोग के निर्देशानुसार मतगणना केंद्र को आईटी से लैस कर दिया गया है। आईटी की व्यवस्था का ट्रायल भी ले लिया गया है। साथ ही मतगणना कर्मियों को दक्ष बना दिया गया है। गुरुवार की सुबह आठ बजे मतगणना का काम शुरू हो जाएगा। सबसे पहले सर्विस मतों की गिनती कराई जाएगी। दिन के लगभग 12 बजे से रूझान मिलने लगेंगे।

मतगणना शुरू होने के एक दिन पूर्व बुधवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में मतगणना कर्मियों और पुलिस पदाधिकारियों के लिए डीएम-एसपी की ज्वाइंट ब्रीफिंग का आयोजन किया गया। इस मौके पर जिला निर्वाची पदाधिकारी सह डीएम राजीव रौशन ने सभी मतगणना कर्मियों को पूरी सावधानी के साथ मतगणना कार्य करने का निर्देश दिया। चुनाव आयोग के दिशा निर्देश का पूरा-पूरा अनुपालन करने की हिदायत दी। निर्धारित विधान सभा क्षेत्र के नियंत्री अधिकारी के यहां मतगणना के दिन ससमय उपस्थित होने और मतगणना का कार्य पूरा करने के उपरांत ही कक्ष से बाहर निकलने का निर्देश दिया। मतगणना कर्मियों को अपने कार्य स्थल पर जाकर अपनी जगह चेक कर लेने की सलाह दी गई। ताकि मतगणना के दिन किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो।  यह भी बताया गया  कि मतगणना कक्ष में मीडियाकर्मियों को तस्वीर लेने की अनुमति नहीं है। केंद्र के अंदर मोबाइल ले जाने पर पूर्णत: रोक है। चुनाव प्रेक्षक को मोबाइल रखने की अनुमति है। 

मतगणना कर्मियों को सुबह 5 बजे पहुंचने का आदेश
मतगणना केंद्र पर सभी मतगणना कर्मियों और ड्यूटी वाले सभी सुरक्षा कर्मियों को अहले सुबह पांच बजे पहुंचना होगा। वहां संबंधित विधान सभा क्षेत्र के मतगणना कक्ष में योगदान करना होगा। मतगणना शुरू होने के पहले विभागीय एवं चुनावी प्रक्रियाएं पूरी कराई जाएंगी। उसके बाद आठ बजे से सभी कक्षों में मतगणना का काम शुरू हो जाएगा। 

जब पूरे देश में कांग्रेस का पताका लहरा रहा था, उस दौर में शुरुआती दो दशक तक तो हाजीपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में भी कांग्रेस का ही दबदबा रहा, लेकिन 1977 में हाजीपुर सीट एससी के लिए आरक्षित हो गई। इसी वर्ष कांग्रेस विरोधी लहर पर सवार युवा नेता रामविलास पासवान ने कांग्रेस के  किले में सेंध लगाई और रिकार्ड कायम कर दिया। 

देश में सर्वाधिक 4,69,007 वोट प्राप्त कर अपनी धाक जमाई थी और उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया था। 1980 में फिर रामविलास चुनाव जीते। साल 1984 में पासवान यहां से चुनाव हार गए। उन्हें कांग्रेस के रामरतन राम ने हराया था। 1989 में पासवान ने फिर ऐतिहासिक जीत दर्ज की और कांग्रेस के महावीर पासवान को 5 लाख 4 हजार 448 वोटों से न सिर्फ हराया बल्कि   अपने रिकार्ड को और बेहतर किया था। तब से यह सीट रामविलास पासवान की गढ़ रही। 2009 में वे जेडीयू के वरिष्ठ नेता रामसुन्दर दास से हार गए, पर साल 2014 में उन्होंने फिर जीत के साथ वापसी की और 8वीं बार हाजीपुर से सांसद  बने।

दो बार हारे लोजपा प्रमुख 
1957 के लोकसभा चुनाव के दौरान हाजीपुर लोकसभा सीट जब अस्तित्व में आई थी। उस समय यहां पर कांग्रेस का वर्चस्व था। 1962, 1967 और 1971 में भी यहां कांग्रेस का ही राज रहा, लेकिन 1977 में हाजीपुर सीट एससी के लिए आरक्षित हो गई और रामविलास पासवान जीते। इसके बाद 1991 में सीट छोड़कर रोसड़ा चले गए और वहां से जीत दर्ज की। पासवान को सिर्फ दो बार हाजीपुर में हार का मुंह देखना पड़ा। पहली बार 1984 में कांग्रेस के रामरतन राम से हारे और दूसरी बार 2009 में रामसुंदर दास से हारे।  

मुकाबला आमने-सामने का 
इस क्षेत्र में हिन्दुओं की आबादी सबसे अधिक है। अल्पसंख्यकों में मुस्लिम साढ़े नौ प्रतिशत हैं। क्रिश्चियन 0.06 तथा सिख, बुद्धिस्ट और जैन 03 प्रतिशत हैं। जातीय आधार पर इस क्षेत्र में यादव, राजपूत, भूमिहार, कुशवाहा, पासवान और रविदास की संख्या सर्वाधिक है। अति पिछड़ों की भी अच्छी संख्या है जिनकी चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। खास यह है कि इस बार दोनों प्रत्याशी नए हैं। लोजपा ने पशुपति पारस को उतारा है। वहीं दूसरी ओर राजद ने राजापाकर विधायक शिवचंद्र राम को। 

तीन अनुमंडल हैं क्षेत्र में
हाजीपुर संसदीय क्षेत्र में विधानसभा क्षेत्र हाजीपुर, लालगंज, महनार, महुआ, राजापाकर और राघोपुर आते हैं। इस क्षेत्र में पातेपुर विधानसभा क्षेत्र था, जो 2014 के चुनाव में कटकर उजियारपुर लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा बन गया। बदले में वैशाली लोक सभा क्षेत्र से लालगंज को काटकर    हाजीपुर से जोड़ा गया। इस लोकसभा क्षेत्र  में वैशाली जिले के तीन अनुमंडल आते हैं। जिसमें हाजीपुर, महुआ और महनार हैं। वहीं साक्षरता दर लगभग 66 प्रतिशत है।

वर्तमान सांसद : रामविलास पासवान
जब-जब जीते चुनाव मिला मंत्री का पद 

वर्तमान सरकार में उपभोक्ता    मामले व खाद्य आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान ने जब-जब जीत दर्ज की तब वे केंद्र में मंत्री रहे। 2014 के चुनाव के पहले इनकी पार्टी लोजपा एनडीए में शामिल हो गई। इसके बाद मोदी लहर पर  सवार होकर फिर सांसद और मंत्री बने। अब वे   राज्यसभा में जाने की तैयारी में हैं। इसलिए उन्होंने अपने  छोटे भाई पशुपति कुमार पारस को हाजीपुर सीट दे दी है। 

कौन जीते कौन हारे 
2014

जीते: रामविलास पासवान, लोजपा,     455652
हारे: संजीव प्रसाद टोनी, कांग्रेस     230152

2009
जीते: रामसुंदर दास, जदयू    246715
हारे:  रामविलास पासवान, लोजपा    208761

2004
जीते: रामविलास पासवान, लोजपा     477495
हारे: छेदी पासवान,जेडीयू          239694

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok sabha election Result 2019 Live update Live Coverage Hajipur loksabha seat result