DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

Lok sabha election Result 2019 : गठबंधन में कांग्रेस होती तो भी आगे रहती भाजपा

congress

यूपी में लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद यह साबित हो गया है कि सपा-बसपा-रालोद के गठबन्धन में अगर कांग्रेस  शामिल भी होती, तब भी भारतीय जनता पार्टी के विजय रथ को विपक्षी दलों का महागठबन्धन रोकने में असफल रहता। अलबत्ता मात्र कुछ सीटों के नतीजे बदल सकते थे। 

मसलन- अलीगढ़ लोकसभा सीट से भाजपा के सतीश कुमार गौतम को 656215 वोट मिले हैं। यहां महागठबन्धन के उम्मीदवार डा. अजीत कुमार बालियान को 426954 और कांग्रेस के बिजेन्द्र सिंह को 50880 वोट मिले हैं यानी अगर दोनों के वोट मिल जाह तो भी भाजपा उम्मीदवार ही जीतता।

इसी तरह बहराइच सीट से भाजपा के अक्षयबर लाल चुनाव जीते हैं। उन्हें सावित्री बाई फूले की जगह भाजपा ने टिकट दिया था। भाजपा उम्मीदवार को 525982 वोट मिले हैं। सावित्री बाई फूले कांग्रेस की उम्मीदवार थीं और उन्हें मात्र 34454 वोट मिले हैं। दूसरे नंबर पर गठबन्धन के शब्बीर बाल्मीकि को 397230 वोट मिले हैं। कांग्रेस के वोट जोड़ देने पर भी गठबन्धन जीत से दूर है। 

गोण्डा लोकसभा सीट से भाजपा के कीर्तिवर्धन सिंह चुनाव जीते हैं। उन्हें 508190 वोट मिले हैं जबकि दूसरे नंबर पर रहे गठबन्धन के उम्मीदवार को 341830 और कांग्रेस से लड़ी कृष्णा पटेल को 25686 वोट ही मिले हैं। फतेहपुर लोकसभा सीट का नतीजा भी कुछ यही बता रहा है। फतेहपुर में केन्द्रीय मंत्री निरंजन ज्योति को 566040, गठबन्धन उम्मीदवार सुखदेव प्रसाद वर्मा को 367835 और कांग्रेस के राकेश सचान को 66077 वोट मिले हैं। 

मिर्जापुर में केन्द्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल 591564 वोट पाकर विजयी रही हैं। उनकी मां कृष्णा पटेल ने कांग्रेस के साथ गठबन्धन किया था लेकिन यहां कांग्रेस के ललितेशपति त्रिपाठी को मात्र 91501 वोट मिले हैं। दूसरे नंबर पर रहे गठबन्धन के रामचरित्र निषाद को 359556 वोट मिले हैं यानी कांग्रेस के वोट मिलने पर भी गठबन्धन की जीत नहीं होती।       

यहां बदल सकता था नतीजा
बांदा लोकसभा पर भाजपा के विजयी उम्मीदवार आर.के. सिंह पटेल को 477926 वोट मिले हैं। इस सीट पर गठबन्धन के उम्मीदवार श्यामाचरण गुप्ता को 418988 और कांग्रेस के बाल कुमार पटेल को 75438 वोट मिले हैं। यहां कांग्रेस और गठबन्धन के वोट मिल कर भाजपा उम्मीदवार को मिले वोट से अधिक हैं। मछलीशहर सीट पर भाजपा के भोलानाथ 488397 वोट पाकर चुनाव जीत गए हैं। यहां गठबन्धन के उम्मीदवार त्रिभुवन राम को 488216 वोट मिले हैं और वह दूसरे नंबर पर हैं। कांग्रेस ने यह सीट गठबन्धन दल जन अधिकार पार्टी को दी थी। उसके उम्मीदवार अमरनाथ पासवान को यहां 7622 वोट मिले हैं यानी दोनों के वोट मिला कर सीट जीती जा सकती थी। 

सोनिया को छोड़ कर कांग्रेस के दिग्गज हारे
उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का लगातार दूसरी बार निराशाजनक प्रदर्शन रहा। पार्टी एक ही सीट रायबरेली पर जीत दर्ज कर सकी। अपना गढ़ अमेठी भी नहीं बचा सकी। पार्टी के सभी दिग्गज जितिन प्रसाद, अन्नू टण्डन, आर.पी.एन. सिंह, प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर, श्रीप्रकाश जायसवाल, जफर अली नकवी, सलमान खुर्शीद, डा. संजय सिंह, सलीम शेरवानी, निर्मल खत्री, ललितेशपति त्रिपाठी चुनाव में धराशायी हो गए तो  रमाकान्त यादव, राजकिशोर सिंह, नसीमुद्दीन सिद्दीकी, भी चारों खाने चित्त हो गए।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok sabha election Result 2019: Even if there was a Congress in the coalition the BJP is ahead