DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

Lok sabha election result 2019: अररिया में खिला कमल, टूटे कई रिकार्ड

lok sabha election result 2017  bjp candidate pradeep kumar singh win from araria

1 / 2जीतने के बाद बयान देते अररिया लोकसभा क्षेत्र के भाजपा नेता और नये सांसद प्रदीप सिंह।

lok sabha election result 2017  bjp candidate pradeep kumar singh win from araria

2 / 2अररिया लोकसभा चुनाव के सारे रिकार्ड तोड़ने के बाद जश्न में शामिल भाजपा समर्थक।

PreviousNext

मोदी लहर ने अररिया लोकसभा चुनाव के सारे रिकार्ड तोड़ दिये। 2009 के बाद यहां भाजपा का कमल खिला है। भाजपा के प्रत्याशी प्रदीप कुमार सिंह को 616992 वोट मिले हैं।  उन्होंने राजद प्रत्याशी सरफराज आलम को 136510 वोटों से मात दी है। भाजपा को 52.8 प्रतिशत वोट मिले, जबकि राजद को 41.1 प्रतिशत वोट से ही संतोष करना पड़ा। वे उपचुनाव 2018 के प्रदर्शन को भी नहीं दोहरा पाये। जिसमें उन्हें पांच लाख नौ हजार के करीब वोट मिले थे। भाजपा आज तक इतने बड़े अंतर से कभी नहीं 
जीती थी।
 
वोट हासिल करने के मामले में तीसरे नंबर पर नोटा रहा। नोटा पर 20606 वोट पड़े, जो उपचुनाव से भी अधिक हैं। इसके अलावा बसपा समेत दस अन्य उम्मीदवारों को एक प्रतिशत वोट भी नहीं मिला। पहले राउंड से ही भाजपा ने जो बढ़त बनायी वह आखिरी राउंड तक बरकार रही और अंतर बढ़ता ही चला गया।
 
बढ़ते अंतर को देखते हुए दोपहर एक बजे तक ही यह साफ हो गया था कि भाजपा ने राजद को बुरी तरह से शिकस्त दे दी है। भाजपा को सबसे अधिक वोट 130102 नरपतगंज विधानसभा क्षेत्र में मिले। इसके बाद फारबिसगंज में 125852, सिकटी में 117788 और रानीगंज में 109949 वोट मिले। वहीं, इस बार भाजपा ने इतिहास रचते हुए जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र में आज तक का सबसे अधिक वोट 55645 पाया है। जबकि अररिया विधानसभा क्षेत्र में 77226 वोट लाकर भाजपा ने कमाल कर दिया है। जबकि राजद ने अररिया विधानसभ क्षेत्र को छोड़कर यहां तक की जोकीहाट में भी अपना पुराना प्रदर्शन नहीं दोहरा पायी। भाजपा की जीत से उनके समर्थकों में जबरदस्त है। दोपहर बाद से ही भाजपा समर्थकों ने एक दूसरे को गुलाल लगाना शुरू कर दिया था और अतिशबाजी शुरू हो गई थी। वहीं राजद के खेमे में मायूसी छा गई है।

समर्थकों ने एक साथ खेली होली-दिवाली
अररिया । भाजपा प्रत्याशी प्रदीप कुमार सिंह की एतिहासिक जीत के बाद शहर का कई इलाका जीत के जश्न में डूब गये। जगह जगह लोगों की भीड़ जुट गयी और खुशियां मनाने लगे। शहर के बस स्टैंड, बिजली ऑफिस, चांदनी चौक, आश्रम चौक आदि जगहों पर लोगों ने पटाखे छोड़ कर खुशियां मनायी। वहीं देर शाम शहर में गाजे बाजे के साथ भव्य विजयी जुलूस निकाला गया। शहर के बस स्टैंड से निकली जुलूस विभिन्न मार्गों का भ्रमण कर खुशी का इजहार किया। इस दौरान डीजे की धून पर युवाओं की टोली जमकर झूमे और नव निर्वाचित सांसद के समर्थन में जमकर नारेबाजी की। खासकर भगवा रंग में रंगे युवाओं की टोली हिन्दुस्तान जिन्दाबाद, भारत माता की जय, जय श्री राम आदि 

नारों के साथ एक साथ होली दिवाली मनायी।  
इस दौरान समर्थक हर आने जाने वाले लोगों को अबीर गुलाल लगाकर मुंह मीठा कराया। इधर भाजपा के नगर महामंत्री ठाकुर उदय प्रताप ने कहा कि यह जीत अररिया के जनता की जीत है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विकास की जीत है। विजयी जुलूस में राजीव कुमार राज, अमर भगत, संजीत कुमार राय, अशोक यादव, जितेन्द्र यादव, संजीव यादव, नवीन यादव, सुधीर भगत, प्रदीप पासवान, प्रदीप भगत, यशवंत कुणाल उर्फ सुमन सिंह सहित बड़ी संख्या में पार्टी नेता व कार्यकर्ता शामिल रहे।

शिक्षा, स्वास्थ्य व कृषि क्षेत्र होगी प्राथमिकता
नवनिर्वाचित सांसद प्रदीप कुमार सिंह ने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य और कृषि क्षेत्र का विकास उनकी प्राथमिकता होगी। अररिया में बेहतर शिक्षा का माहौल बने और यहां टेक्निकल कालेज की स्थापना हो,लोगो को बेहतर अस्पताल की सुविधा मिले और किसानों की तरक्की हो इसके लिए वे काम करेंगे। अररिया में मक्का आधारित उद्दोग की स्थापना कराने के लिए वे प्रयास करेंगे। हर साल बाढ़ से बर्बादी झेल रहे जिले के लोगों को बाढ़ से मुक्ति कैसे मिले इस दिशा में काम करेंगे। परमान, बकरा, कनकई, भलुआ, सुरसर नदी की त्रासदी से यहां के लोगो को बचाने के लिए तटबंध निर्माण की दिशा अपनी भूमिका निभाएंगे। वहीं अररिया लोकसभा क्षेत्र से विजय हुए एनडीए के भाजपा प्रत्याशी प्रदीप कुमार सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास राष्ट्रवादी नीति और उनके नेतृत्व क्षमता का यह चुनाव नतीजा है। इस बार के चुनाव में कोई समीकरण काम नहीं आया और लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश को सुरक्षित मानकर अपना समर्थन दिया है। सबका साथ सबका विकास के मूलमंत्र को लोगो ने तबज्जो दी। यह जीत है एनडीए कार्यकर्ताओं अररिया की है। वे अररिया की जनता के प्रति आभार व्यक्त करते हैं ।नवनिर्वाचित सांसद प्रदीप सिंह ने कहा कि अररिया के लोगों ने उन्हें सेवा का मौका दिया है यह जीत वे जनता को समर्पित करते हैं ।सबका सम्मान करते हुए जो वोट दिया और जो नही दिया वे सबो के लिए आदर भाव रखते हैं। जात पात से ऊपर उठकर अररिया के विकास के लिए काम करेंगे। (नि.सं.)

भाजपा प्रत्याशी को मिला प्रमाणपत्र
अररिया। जीत की घोषण के बाद भाजपा समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई। डीएम बैद्यनाथ यादव ने मतगणना स्थल मार्केटिंग यार्ड में भाजपा प्रत्याशी प्रदीप कुमार सिंह को प्रमाण पत्र दिया। मौके पर समान्य प्रेक्षक सज्जन सिंह आर चवन, एसपी धुरत सायली, जिला आपदा पदाधिकारी शंभू कुमारी, एडीएम अनिल कुमार ठाकुर सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।  

राजद के विधानसभा क्षेत्र में भाजपा की जीत
आखिरकार भाजपा ने अपने गढ़ में जोकीहाट और अररिया विधानसभा क्षेत्र का विकल्प तैयार कर ही लिया। यहां तक की भाजपा ने सबसे बड़ी जीत राजद के विधानसभा क्षेत्र नरपतगंज में हासिल की है। यहां राजद के अनिल यादव विधायक हैं। लेकिन भाजपा ने 130102 वोट लेकर राजद पर करीब 70 हजार की बढ़त बनायी है, जो आज तक का रिकार्ड है। यूं तो फारबिसगंज भाजपा का गढ़ माना जाता है लेकिन सारे रिकार्ड को तोड़ते हुए यहां से भी भाजपा ने 51692 वोटों की बढ़त बनायी है। सिकटी विधानसभा क्षेत्र में भी भाजपा ने इस बार जमकर मोदी के पक्ष में मतदान किया। यहां के मतदाताओं ने सरफराज आलम को धूल चटाते हुए भाजपा को 57244 वोटों की बढ़त दिलायी। रानीगंज में भी 2018 के लोकसभा उपचुनाव की तुलना में इस बार वोटरों ने राजद को सिरे से नकार दिया। यहां भी भाजपा को करीब 43 हजार वोटों की बढ़त मिली। राजद के परंपरागत वोट बैंक वाले क्षेत्र अररिया में 2018 की तुलना में राजद को भले ही 200 वोटों की बढ़ मिली हो लेकिन भाजपा ने यहां भी सेंधमारी करने में कामयाबी हासिल की और 77226 वोटर लाकर पुराने रिकार्ड को तोड़ा। जोकीहाट में भी राजद को करीब दस हजार वोटों का नुकसान झेलना पड़ा। 2018 की तुलना में भाजपा ने यहां करीब 15 हजार अधिक वोट लेकर आयी है।
   
टूट गया मिथक, बना इतिहास

पिछले बीस साल से ऐसा संयोग हो रहा था कि अररिया में जिसकी जीत होती थी केंद्र में उसकी सरकार नहीं बनती थी लेकिन बार यह मिथक भी टूट गया। केंद्र में प्रचंड बहुमत के साथ जहां एनडीए सरकार बनाने जा रही है वहीं अररिया से भी एनडीए प्रत्याशी ने जीत दर्ज की। 
अररिया के चुनाव ने इस बार नया इतिहास रचने का काम किया है। लोकसभा क्षेत्र के गठन के बाद भाजपा की यह चौथी जीत है। पिछले तीन चुनावों में भाजपा ने थर्ड फैक्टर की वजह से जीत दर्ज की थी। 1998 में भाजपा से जीते रामजी दास ऋषिदेव के लिये जनता दल के सुकदेव पासवान थर्ड फैक्टर थे। वहीं 2004 में सुकदेव पासवान ने भाजपा के टिकट जीत दर्ज की थी। इस दौरान सपा के उम्मीदवार रहे रामजी दास ऋषिदेव ने थर्ड फैक्टर का काम किया था। जबकि 2009 में भाजपा से विजयी रहे प्रदीप कुमार सिंह के लिये कांग्रेस के डा. शकील अहमद थर्ड फैक्टर बने थे। लेकिन इस बार के चुनाव में सीधे मुकाबले में भाजपा ने बड़े अंतर से जीत हासिल की है।

गुरुवार को मोदी लहर ने अररिया लोकसभा चुनाव के सारे रिकार्ड तोड़ने के बाद जश्न में शामिल भाजपा समर्थक।        

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok sabha election result 2017: BJP candidate Pradeep Kumar singh win from araria