फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लोकसभा चुनावसंजय गांधी के करीबी बन संसद पहुंचे थे कल्पनाथ सोनकर

संजय गांधी के करीबी बन संसद पहुंचे थे कल्पनाथ सोनकर

कल्पनाथ सोनकर पहली बार कांग्रेस से तो दूसरी बार जनता दल से बस्ती सदर सीट से संसद भवन पहुंचे थे। जिले के सियासी इतिहास में हमेशा उनका महत्वपूर्ण स्थान रहा। राजनीति में उन्हें स्व. संजय गांधी का करीबी...

संजय गांधी के करीबी बन संसद पहुंचे थे कल्पनाथ सोनकर
Ajayसज्जाद रिजवी,बस्तीMon, 08 Apr 2019 09:43 PM
ऐप पर पढ़ें

कल्पनाथ सोनकर पहली बार कांग्रेस से तो दूसरी बार जनता दल से बस्ती सदर सीट से संसद भवन पहुंचे थे। जिले के सियासी इतिहास में हमेशा उनका महत्वपूर्ण स्थान रहा। राजनीति में उन्हें स्व. संजय गांधी का करीबी माना जाता था। इमरजेंसी के बाद कांग्रेसियों के खिलाफ हो रही कार्रवाई के दौरान कल्पनाथ सोनकर की मुलाकात संजय गांधी से जेल में हुई थी। कल्पनाथ सोनकर से वह काफी प्रभावित थे। 

1977 में केंद्र में बनी जनता पार्टी की सरकार नाकाम होने के 1980 में एक बार फिर देश में लोकसभा चुनाव हुआ। संजय गांधी के कहने पर कांग्रेस पार्टी ने उनके करीबी कल्पनाथ सोनकर को बस्ती सदर लोकसभा चुनाव से उम्मीदवार घोषित किया। कल्पनाथ सोनकर ने जनता पार्टी (एस) के उम्मीदवार गिरधारी लाल को शिकस्त दी। उन्हें 107432 और प्रतिद्वंदी 80542 वोट ही मिले। 

राजीव गांधी के रक्षा मंत्री रहे वीपी सिंह ने कांग्रेस से मतभेद के बाद जब जनता दल का गठन किया तो कल्पनाथ सोनकर जनता दल से जुड़ गए। कांग्रेस के खिलाफ होने वाले आंदोलन में वह काफी मुखर रहे, जिसके नतीजे में 1989 में होने वाले लोकसभा चुनाव में उन्हें बस्ती सदर लोकसभा क्षेत्र से जनता दल का प्रत्याशी घोषित किया गया। उन्होंने दमदारी से चुनाव लड़कर कांग्रेस के तत्कालीन सांसद रामअवध को शिकस्त दी। उन्हें 179586 और निकटतम प्रतिद्वंदी को 146367 वोट मिले थे। कल्पनाथ सोनकर लंबे समय से सरगर्म सियासत से जुड़े रहे। 1998 में उन्होंने समाजवादी पार्टी से अपनी किस्मत आजमाई लेकिन दूसरे स्थान पर ही संतोष करना पड़ा। वर्तमान में उनकी सियासी विरासत को बेटे रवि सोनकर बरकरार रखे हुए हैं। रवि सोनकर मौजूदा समय महादेवा विधानसभा से भाजपा विधायक हैं।

संजय के बाद मेनका के हुए करीबी
23 जून 1980 में संजय गांधी की हवाई हादसे में मौत के बाद जब इंदिरा परिवार से श्रीमती मेनका गांधी अलग हुईं तो कल्पनाथ सोनकर ने उनका साथ दिया। संजय विचार मंच से जुड़े रहे। श्रीमती मेनका गांधी अपने संगठन को विस्तार देने के दौरान कई बार बस्ती में पुरानी बस्ती स्थित कल्पनाथ सोनकर के घर पर भी आईं।

1980 बस्ती सुरक्षित : 34
कुल वोट        पोल वोट        वैध वोट        वोट प्रतिशत 
703177        268864        260313           38.24%

विजेता : कल्पनाथ सोनकर, कांग्रेस
वोट : 107432     41.27 %
उपविजेता : गिरधारी लाल, जेएनपी एस
वोट : 80542    30.94 %
तीसरा स्थान : शिवनारायण, जेएनपी 
वोट : 50925    19.56 %

1989 बस्ती सुरक्षित : 34
कुल वोट        पोल वोट        वैध वोट        वोट प्रतिशत 
949910        473013        449629    49.80%

विजेता : कल्पनाथ सोनकर, जेडी
वोट : 179586    39.94 %
उपविजेता : रामअवध, कांग्रेस
वोट : 146367    32.55 %
तीसरा स्थान : रामपदारथ, बसपा
वोट : 67188    14.94 %
---

epaper