DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

फारूक अब्दुल्ला ने जम्मू में गठबंधन उम्मीदवारों के प्रचार का किया नेतृत्त्व

farooq abdullah

नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने शुक्रवार को कांग्रेस-नेकां के संयुक्त उम्मीदवारों के प्रचार का नेतृत्व करते हुए कहा कि इस गठबंधन का उद्देश्य भारत को धर्मनिरपेक्ष बनाए रखना और विभाजनकारी राजनीति से "बचाना" है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कर्ण सिंह के पोते विक्रमादित्य सिंह और पूर्व मंत्री रमन भल्ला कांग्रेस और उसके गठबंधन सहयोगी नेकां के क्रमश: उधमपुर और जम्मू लोकसभा सीट से संयुक्त उम्मीदवार हैं।

फारूक अब्दुल्ला ने संयुक्त उम्मीदवारों के प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए संवाददाताओं से कहा, ''हमने यह बलिदान भारत को एक धर्मनिरपेक्ष देश बनाए रखने और भारत को मजबूत बनाए रखने के एकमात्र उद्देश्य से किया है। इसके अलावा हमारा अन्य कोई मकसद (कांग्रेस के साथ गठबंधन करने में) नहीं है। उन्होंने कहा, ''देश को इस दलदल से निकालने के लिए हम एकसाथ आए हैं। हम आपको (कांग्रेस को) अपने पूर्ण समर्थन का आश्वासन देते हैं।"

J&K: NC और कांग्रेस में हुआ गठबंधन,जानें क्या है सीट शेयरिंग फॉर्मूला

अब्दुल्ला ने कहा कि एनसी इस देश को विभाजनकारी राजनीति से बचाने के लिए सामने आई है। उन्होंने कहा, ''हम इस देश को उन ताकतों (जो धर्म के आधार पर हमारे देश का विभाजन कर रहे हैं) से बचाने के लिए साथ आए हैं, केवल इस राज्य को बचाने के लिए नहीं।"

अब्दुल्ला ने कहा कि हमें इस देश में रहना है और इसे और इसके धर्मनिरपेक्ष लोकाचार को मजबूत करना है। विक्रमादित्य सिंह ने इस मौके पर कहा कि वे अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए जमीनी स्तर पर एक साथ लड़ेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Farooq Abdullah leads the campaign of National Conference Congress candidates in Jammu