Election on the Nook: Ranchi election mood is different Brother - नुक्कड़ पर चुनाव: रांची के चुनाव का मिजाजे अलग होता है भाई DA Image
14 दिसंबर, 2019|4:59|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नुक्कड़ पर चुनाव: रांची के चुनाव का मिजाजे अलग होता है भाई  

कोकर में रामलखन सिंह यादव कॉलेज के ठीक सामने की चाय की दुकान। सुबह में जमकर भीड़ जुटती है इस दुकान पर। रविवार को  तो दस बजे तक बड़ा जुटान होता है। जुटने वाले लोग भी अलग-अलग तरह के। छात्रों की टोली एक तरफ तो बुजुर्गों की टोली एक तरफ। अब जितने तरह के लोग बातें भी उतनी तरह की। धोनी के क्रिकेट से लेकर पानी-बिजली की समस्या तक। सिनेमा से लेकर नौकरी-प्रमोशन तक। कुछ लोग चाय के साथ बतकही का आनंद लेने के चक्कर में घंटों खड़े रहते हैं। 

लेकिन पिछले कुछ दिनों से यहां होने वाली बातचीत का मिजाज बदला है। बात कहीं की भी शुरू कीजिये लोग उसे घुमाकर चुनाव पर ले ही आते हैं। अब रविवार की सुबह का ही लीजिये। कुछ नौजवान चाय की चुस्की के साथ आईपीएल के पहले मैच की बात कर रहे थे। एक नौजवान ने कहा- धोनी देखा दिहिस कि अभी भी उसमें बहुत क्रिकेट बचल है। कल रात विराट की टीम तो पानी मांग रहिस थी। उसकी बात पर बाकी सभी ठठा कर हंस पड़े। उनके बगल में खड़े एक बुजुर्ग उनकी बातें थोड़ी ध्यान से सुन रहे थे। अचानक जैसे वे इस बहस में कूद पड़े- हां, धोनी तो देखा दिहिस बाकिर कड़िया मुंडाजी को भी एक बार और दम दिखाने का मौका मिलना चाहिये था। 

बात थोड़ी गंभीर हो गई और सबकी नजर बुजुर्गवार पर चली गई। एक नौजवान ने धीरे से कहा- का दादा, नौजवान को मौका नहीं दीजियेगा का?
शायद दादा का संबोधन बुजुर्गवार को अच्छा नहीं लगा। उन्होंने नौजवान को थोड़े नाराजगी के भाव से देखा और अनमने ढ़ंग से चाय का गिलास एक तरफ रख दिया। तभी दूसरे ने कहा- अबकी तो लग रहल है कि रामटहलो चौधरी उसी कतार में हैं चचा। चाचा का संबोधन शायद बुजुर्गवार को अच्छा लगा और वे लपकते हुए नौजवानों के बीच आ गये। फिर उन्होंने कहा- भाजपा ने तो कंडिडेट घोषित कर दिया। अब महागठबंधन भी घोषित कर दे तो पता चले कि किसका दावा कितना मजबूत है। सामने की टेबुल पर चाय के साथ अखबार का आनन्द ले रहे एक दूसरे व्यक्ति ने कहा- कुछो कहो, अब चुनाव का माहौल बन गया है रांची में। थोड़े दिन में तो माहौल और गरमायेगा। रांची का कंडिडेट आने दीजिये मैदान में  फिर देखियेगा। रांची के चुनाव का तो मिजाजे अलग होता है भाई। उनकी इस बात पर नौजवान से लेकर बुजुर्ग तक हंस पड़े। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Election on the Nook: Ranchi election mood is different Brother