DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नुक्कड़ पर चुनाव: का हो बबुआ नमवा मिलल... 75 के बाद नेता के नाम कट जा ता!

दिन शनिवार!  कोकर से लालपुर जाने के क्रम में एक राजनीतिक पार्टी के कार्यालय के पास खड़े वाहन पर लगे लाउडस्पीकर से गीत बज रहा है- वोटर जन हैं, वोट का चोट देने का राष्ट्रीय पर्व मनाएंगे.. ठीक है, युवा जागे, देश जागेगा मिलकर कदम बढ़ाएंगे...ठीक है ।  इन पैरोडी गीतों का आनंद लोग ले रहे हैं। वहीं दूसरी ओर  कुछ  युवा, महिलाएं और बुजुर्ग कंप्यूटर पर टकटकी लगाए देख रहे थे। पास जाने पर पता चला कि सभी चुनावी महापर्व पर अपना योगदान देना चाहते हैं। चर्चा शुरू होती है। एक बुजुर्ग काफी देर से कंप्यूटर पर टकटकी लगाए हुए थे। 

अचानक धूप के तीखे तेवर की तरह उनका भी तेवर बदलता है और कहते है-  का हो बबुआ, नमवा मिलल। 75 साल के बाद नेता लोगन के टिकट नईखे मिलत। हमरो नाम काट देवल गईल बा का।  कंप्यूटर वाले आदमी ने कहा- ना चचा राउर नाम कैसे कटी। पहले कहां वोट देत रहीं। चचा ने कहा- कॉलेजवे में। काफी देर बाद चचा का नाम वोटर लिस्ट में मिल गया। चचा के चेहरे में खुशी की लहर दौड़ी। कागज हाथ में लिए बोल उठे- सुबहे-सुबहे वोट मारल जाई। इस बार नाम के गड़बड़झाला होय के खतरा खूब बा।  चचा के जाते ही एक युवा वोटर कार्ड निकालता है। कंप्यूटर वाला आदमी नाम पूछता है। युवा मुस्कुराते हुए नाम बताता है और कहता है पहली बार वोट देंगे। शीघ्र ही उसका नाम लिस्ट में मिल जाता है। पर्ची हाथ में थामे युवा अपने दोस्तों से कहता है। ई बार दबाकर वोट देंगे। जब तक पीं... नहीं बोलेगा, छोड़ेंगे नहीं।

कंप्यूटर वाला आदमी कहता है- किसको वोट दोगे। युवा तड़ाक से कहता है- जो देश का विकास और रोजगार देगा उसी को वोट देंगे। युवा के जाते ही एक महिला नाम खोजने की आरजू कंप्यूटर वाले आदमी से करती है। कंप्यूटर पर आदमी नाम खोज रहा है तभी महिला ने कहा- कि मेरे मुहल्ले में न अच्छी सड़क है और न समय पर पानी मिलता है।  हम तो किसी नेता को भी नहीं जानते हैं। जो मेरे मुहल्ले का विकास करेगा उसी को वोट देंगे। 
  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Election on the Nook: Ho babua Namava Millal After 75 the name of the leader should be cut