DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

भागलपुर सदर अस्पताल का हाल, मात्र एक डॉक्टर कर रहे रोजाना 150 मासूमों का इलाज

bhagalpur  sadar hospital

सदर अस्पताल में डॉक्टरों की कमी के कारण मासूम बच्चों के इलाज करने में परेशानी आ रही है। यहां एक ही डॉक्टर पर एसएनसीयू, ओपीडी व अस्पताल में भर्ती बच्चों के इलाज की जिम्मेदारी आ गई है। सदर अस्पताल में रोजना करीब 150 मासूम बच्चों का इलाज होता है। 
बच्चों का इलाज कराने आए परिजनों का कहना है कि घंटों इंतजार करने के बाद उनका नंबर आता है। मरीजों की अधिक संख्या के कारण डॉक्टर एक-दो मिनट में ही जांच कर भेज देते हैं।  

इंडोर और एसएनसीयू में 50 बच्चे रहते हैं भर्ती
जिला स्वास्थ्य समिति के आंकड़े बताते हैं कि सदर अस्पताल के इंडोर व इसी के समीप स्थित 12 बेड के एसएनसीयू में हर रोज औसतन 50 के करीब मासूम बच्चे इलाज के लिए भर्ती रहते हैं। अस्पताल में हर रोज 16 से 18 की संख्या में सीजेरियन व सामान्य प्रसव कराया जाता है। इसके अलावा सदर अस्पताल के ओपीडी में भी हर रोज 100 से 110 बच्चे इलाज के लिए आते हैं। 

डेढ़ साल पहले तीन डॉक्टर थे 
करीब डेढ़ साल पहले तक सदर अस्पताल में डॉ. ललित, डॉ. राकेश कुमार व डॉ. कुंदन शर्मा के रूप में तीन शिशु रोग विशेषज्ञ मौजूद थे। डेढ़ साल पहले डॉ. ललित का पहले रेफरल अस्पताल ट्रांसफर हुआ फिर वहां से उनका दरभंगा प्रमंडल में ट्रांसफर हो गया। डॉ. राकेश कुमार का एक सप्ताह पहले जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के शिशु रोग विभाग में बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर नियुक्ति हो गई। इसी के साथ ही अब कुंदन शर्मा सदर अस्पताल में इकलौते बच्चों के डॉक्टर के रूप में रह गए हैं। 

स्वास्थ्य विभाग को लिखा जा चुका है पत्र
सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार सिंह ने कहा कि पूरे जिले के सरकारी अस्पतालों में 298 की तुलना में महज 54 डॉक्टर ही उपलब्ध हैं। डॉक्टरों की कमी को लेकर स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखा जा चुका है। आगामी एक से दो माह में डॉक्टरों की नियुक्ति संबंधी विज्ञापन निकलेगा। उम्मीद है कि शिशु रोग, ईएनटी, हड्डी रोग, फिजिशियन व महिला डॉक्टर मिल जाएंगे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:condition of health department: only one doctor of Sadar Hospital doing treating 150 innocent children daily