candidates can also monitor strong room after polling for lok sabha election 2019 in uttarakhand - Lok Sabha Election 2019: प्रत्याशी चाहें तो करा सकते हैं स्ट्रांग रूम की निगरानी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Lok Sabha Election 2019: प्रत्याशी चाहें तो करा सकते हैं स्ट्रांग रूम की निगरानी

 Assembly, twenty, chests

उत्तराखंड में सभी पोलिंग पार्टियां मतदान स्थलों से लौट आई हैं। सभी ईवीएम और वीपीपैट मशीनों को जिलों में बने स्ट्रांग रूम में त्रिस्तरीय सुरक्षा में रखा गया है। निर्वाचन आयोग ने स्पष्ट किया है कि यदि प्रत्याशी चाहें तो सुरक्षा घेरे से बाहर अपनी भी निगरानी बैठा सकते हैं। प्रदेश की सभी 11,229 पोलिंग पार्टियां मतदान समाप्त होने के लगभग 24 घंटे बाद ही अपने जिला मुख्यालय पर पहुंच पाईं। इसके बाद सभी जगह ईवीएम को स्ट्रांग रूम में रखकर सील कर दिया गया। स्ट्रांग रूम के बाहर आयोग ने तीनस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया है।  इसके लिए सभी जिलों में केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है। साथ ही स्ट्रांग रूम के चारों तरफ सीसीटीवी कैमरों की 24 घंटे निगरानी रहेगी। स्ट्रांगरूम के दो सौ मीटर के दायरे में बाहरी व्यक्ति का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। इसके बावजूद यदि प्रत्याशी ईवीएम की खुद या अपने प्रतिनिधि के माध्यम से निगरानी करना चाहे तो आयोग इसकी इजाजत देता है।  मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने बताया कि संबंधित जिला निर्वाचन अधिकारी की इजाजत लेने के बाद प्रत्याशी सुरक्षा घेरे के बाहर खुद या अपने प्रतिनिधि से निगरानी कर सकता है। एग्जिट पोल पर रोक : इस बीच आयोग ने अब अंतिम चरण का मतदान समाप्त होने तक एग्जिट पोल के प्रकाशन, प्रसारण पर रोक लगा दी है। सहायक निदेशक सूचना रवि बिजरानियों ने निर्वाचन आयोग के हवाले से बताया है कि 19 मई शाम साढ़े छह बजे तक किसी भी माध्यम से एग्जिट पोल जारी करने पर रोक रहेगी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:candidates can also monitor strong room after polling for lok sabha election 2019 in uttarakhand