DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

Lok Sabha Elections 2019- लालू के हस्ताक्षर से सिंबल पाने वालों का नामांकन रद्द हो: JDU

जदयू ने मांग की है कि भ्रष्टाचार के मामले में रांची के होटवार जेल में सजा काट रहे राजद राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद द्वारा बांटे गए टिकट पर चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों का नामांकन अवैध घोषित किया जाय। इस मांग को लेकर जदयू के विधान पार्षद व प्रवक्ता नीरज कुमार ने भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र लिखा है। शुक्रवार को उन्होंने चुनाव आयोग को भेजा पत्र मीडिया में जारी किया। 

कहा कि यह नीतिगत मामला है। जब बेल पेटिशन के वकालतनामा पर भी लालू यादव को जेल सुपरिटेंडेंट का हस्ताक्षर लेना पड़ता है, ऐसे में यह देखना होगा कि उन्होंने इसके लिए कोई आदेश लिया कि नहीं। श्री नीरज ने चुनाव आयुक्त को भेजे अपने पत्र में कहा है कि लालू एक पार्टी के अध्यक्ष भी हैं और लोकसभा चुनाव में अपने हस्ताक्षर से ही टिकट भी बांटे हैं। क्या टिकट बांटने में उन्होंने हस्ताक्षर करने के लिए अदालत से आदेश लिया है? अगर नहीं तो उनके द्वारा बांटे गए टिकट पर चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों के नामांकन को अवैध घोषित किया जाना चाहिए। चुनाव आयोग से निवेदन है कि वह यथोचित कार्रवाई करे। 

Lok Sabha Elections 2019- राबड़ी ने भोजपुरी मे किया ट्वीट, मोदी सरकार पर साधा निशाना

जहां तक प्रावधानों का प्रश्न है, जितने उपलब्ध इंस्ट्रक्शन हैं उसके मुताबिक ऐसा करने की मनाही नहीं है। जिस मामले की चर्चा की गई है, उसमें जितने भी कैंडिडेट के फार्म ए और बी चुनाव आयोग के पास आए हैं, सभी संबंधित जेल सुपिरिटेंडेंट द्वारा एटेस्टेड हैं। 
- संजय कुमार सिंह, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, बिहार 

जदयू प्रवक्ता नीरज ट्यूटर बदलें : राजद
राजद के प्रदेश प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने कहा है कि जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार को चुनाव आयोग  को पत्र लिखने के पहले जेल मैनुअल, नामांकन के लिए चुनाव आयोग के नियमों एवं प्रपत्रों, आदर्श चुनाव आचार संहिता के साथ ही आइपीसी की धाराओं का अध्ययन कर लेना चाहिए। आदर्श चुनाव आचार संहिता के अनुसार मतदाताओं के बीच भ्रम पैदा करना भी गंभीर अपराध है। जदयू प्रवक्ता ने मतदाताओं को भ्रमित करने के उद्देश्य से ऐसे पत्र को मीडिया में जारी किया है। अतः चुनाव आयोग को स्वतः संज्ञान लेकर कार्रवाई करनी चाहिए। गगन ने नीरज को अपना ट्यूटर बदलने की सलाह दी है। आरोप लगाया कि नीरज कुमार सुशील कुमार मोदी से ट्यूशन पढ़ते हैं। उन्हें लालू प्रसाद और तेजस्वी प्रसाद यादव और उनके परिवार  के नाम के अलावा और कुछ आता ही नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Cancellation of those who get symbol from Lalus signature JDU