DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

अररिया लोकसभा सीट: पीएम मोदी की सभा के बाद यहां सीएम नीतीश संभालेंगे कमान

odisha  prime minister narendra modi addresses an election public rally in sambalpur

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण का प्रचार मंगलवार को थमा गया। अब अररिया समेत उन चार लोकसभा क्षेत्रों में राजनीतिक तापमान बढ़ जायेगा जहां 23 अप्रैल को तीसरे चरण में चुनाव होने हैं।
 
ताबड़तोड़ प्रचार बुधवार यानि आज से शुरू होना है। चुनावी समर में भाजपा की ओर से सबसे बड़ी सभा होने जा रही है। इस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी सभा फारबिसगंज में होगी। इसको लेकर भाजपा में काफी उत्साह है। पार्टी इसे अपना सबसे बड़ा हथियार मान रही है। हालांकि 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी फारबिसगंज के आईटीआई मैदान में सभा कर चुके हैं। उस समय भाजपा को जीत नहीं मिली थी। राजनीतिक जानकार इसके पीछे दो कारण मानते हैं।

पहला 2014 में भाजपा-जदयू के बीच टूट के कारण नरेंद्र मोदी की सभा का लाभ भाजपा को नहीं मिला। दूसरा 2014 में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं इस पद के उम्मीदवार के तौर पर वोट मांगने आये थे। वहीं 2015 के विधानसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी बतौर प्रधानमंत्री भी यहां सभा कर चुके हैं। उस वक्त भाजपा को फारबिसगंज में जीत मिली थी। हालांकि फारबिसगंज पहले से भाजपा के लिये अनुकूल माना जाता रहा है। दूसरी ओर, एनडीए की ओर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी प्रचार करेंगे प्रचार के अंतिम दिन 21 अप्रैल को वे अपने गढ़ रानीगंज में ही पहली सभा करेंगे। 

बेलसारा की सभा से यादव वोटों को साधेंगे तेजस्वी
बुधवार को तेजस्वी रानीगंज की ऐसी पंचायत में सभा करेंगे। यहां रानीगंज और भरगामा प्रखंड की सीमा पर स्थित बेलसारा पंचायत और आसपास का इलाका यादव बाहुल्य माना जाता है। पांच दिन पहले ही बेलसारा के सरपंच कुमार शशिभूषण ऊर्फ गब्बू यादव की अपराधियों ने हत्या कर दी थी। वह युवा राजद के प्रखंड उपाध्यक्ष भी थे। इस हत्या के बाद तेजस्वी की सभा के कई मायने हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Araria Lok Sabha seat: Chief Minister Nitish Kumar will take over election campaign after PM Modi meeting