DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

चुनाव आयोग की पाबंदी के बाद नेताओं ने आजमाए ये नए पैंतरे

चुनाव आयोग ने भले ही यूपी के कई नेताओं की गलतबयानी पर उन्हें चुनाव प्रचार करने से रोक दिया है, लेकिन नेताओं ने रोक की तोड़ में अनोखे पैंतरे तलाश लिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जहां मंदिर-मंदिर दर्शन कर रहे हैं तो मायावती ने भतीजे आकाश को आगे कर नया दलित दाव खेला है। आजम खां भी पीछे नहीं हैं। उनके बेटे ने मुसलमान होने के कारण पीड़ित किए जाने का आरोप जड़ दिया है। 

‘मंदिर-मंदिर दर्शन’ योगी का एजेंडा
विपक्षियों को आक्रामक ढंग से घेरने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंदिर-मंदिर दर्शन पर निकल गए। उनकी यह रणनीति खासी कारगर भी नज़र आ रही है। आयोग ने जहां सोशल मीडिया आदि पर चुनाव प्रचार की रोक लगाई थी, वहीं मंदिर दर्शन के बहाने मुख्यमंत्री जाने-अनजाने भाजपा की हिन्दुत्व वाली राजनीति को ही और  आंच देते दिख रहे हैं। उन्होंने विपक्षी गठबंधन के दलित कार्ड की भी काट निकाल ली और रामलला के दर्शन के साथ ही अयोध्या में दलित महावीर के घर भोजन कर बसपा को भी साफ संकेत दे दिए।

मायावती का दलित कार्ड
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंदिर-मंदिर दर्शन पर निकले, उससे पहले ही मायावती ने अपनी चिर-परिचित शैली में आनन-फानन में उसी रात प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर आयोग को घेरे में लेने की कोशिश की। आयोग पर मायावती ने दलित विरोध होने का तो आरोप मढ़ा ही, यहां तक कह दिया कि भाजपा के इशारे पर उन्हें प्रचार से रोका गया। दरअसल इन आरोपों के जरिए मायावती ने अपनी पार्टी के एजेंडे को ही पोषित किया। एक ओर वह दलित कार्ड चलने की कोशिश करती रहीं, वहीं उन्होंने भाजपा की पुरजोर आलोचना की, जो शायद वह अपनी रैलियों में करतीं।

अब्दुल्ला आजम भी पीछे नहीं
आयोग के प्रतिबंध के बाद आज़म खां तो चुप हो गए लेकिन उनके बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम ने कमाम संभाल ली। वह हिन्दू-मुसलमान कार्ड खेलने से नहीं चूके और मुसलमान होने के कारण प्रतिबंध लगाने का आरोप लगा दिया। नि:संदेह उन्होंने भी अपने बयान के जरिए वोटबैंक को संदेश देने की कोशिश की ताकि वे एकजुट हों। लब्बोलुआब यह कि आयोग द्वारा प्रचार पर रोक लगाने का मकसद भले ही थोड़ा-बहुत पूरा हुआ है। आयोग के निशाने पर आए नेताओं के बिगड़े बोलों पर लगाम तो लगी है  लेकिन अपने पैतरों से संदेश देने  में तो ये नेता कामयाब ही होते दिख रहे हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After the Election Commissions ban the leaders tried these new ways