DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:
asianpaints

घोषणापत्र : 'आप' की बस एक मांग, लेकर रहेंगे पूर्ण राज्य, ये हैं 12 बड़े चुनावी वादे

                                                                                                                                                                                                               photo   aap twitter

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए गुरुवार को आम आदमी पार्टी (आप) ने दिल्ली का चुनावी घोषणापत्र जारी कर दिया। 38 पेज के इस चुनावी घोषणापत्र 'आप' ने दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने की मांग को प्रमुखता से रखा है। इसके साथ ही पार्टी ने इसके फायदों का भी विस्तार से उल्लेख किया है। 'आप' ने इस घोषणापत्र में यह भी विस्तारपूर्वक बताया कि है बिना पूर्ण राज्य के उसने किस क्षेत्र में कितना और क्या काम किया है और जब दिल्ली पूर्ण राज्य  बन जाएगी तो वह काम क्या करेगी।

इस बार 'आप' ने अगले पांच साल के लिए दिल्ली की जनता से 12 चुनावी वादे किए हैं। इनमें, शिक्षा, स्वास्थ्य, पुलिस सुधार, महिला सुरक्षा, रोजगार, भ्रष्टाचार, सीलिंग से बचाव, साफ-सफाई, प्रदूषण, परिवहन, यमुना की सफाई, जमीन और मकान प्रमुख हैं।  

आप का पूरा घोषणापत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री और 'आप' के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज दिल्ली के लोगों के साथ सेकेंड क्लास सिटीजन की तरह बर्ताव किया जा रहा है। दिल्ली पूर्ण राज्य बनेगी तो पुलिस जनता के प्रति जवाबदेह होगी, जिससे महिलाएं सुरक्षित होंगी। 

केजरीवाल ने कहा कि देश की राजधानी होने के बावजद आज दिल्ली में आम आदमी की जिंदगी दोयम दर्जे की रह गई है। देश के किसी भी अन्य हिस्से का निवासी वोट देता है तो उसके वोट की पूरी ताकत होती है। वह अपने वोट से अपने लिए पूरी राज्य सरकार चुनता है। लेकिन दिल्ली का आम आदमी जब वोट देता है तो वह एक आधी-अधूरी सरकार चुनता है। आखिर आजादी के इतने साल बाद भी दिल्ली के आम आदमी को अपने वोट से अपनी पूरी सरकार चुनने का अधिकार क्यों नहीं मिला? 

केजरीवाल का राहुल गांधी पर हमला, कहा-ट्विटर पर कौन सा गठबंधन बनता है?

ऐसा क्यों है कि दिल्ली के बच्चों को स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय चाहिए तो उसे केंद्र सरकार पर निर्भर रहना पड़ता है। जबिक बाकि राज्यों में नए स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय उसकी चुनी हुई सरकार बनाकर देने के लिए स्वतंत्र है। इसी तरह नौकरी, महिला सुरक्षा, सस्ते घर और व्यापार की सुविधाएं जैसे तमाम मुद्दों के लिए दिल्ली के आम आदमी को केंद्र सरकार की तरफ देखना पड़ता है।

केजरीवाल ने कहा कि 2019 का चुनाव देश, संविधान को बचाने के लिए है। हम पहले भारतीय हैं, उसके बाद हिंदू या मुसलमान हैं। आज हमारी संस्कृति के ऊपर प्रहार हो रहा है, हमारी एकता पर प्रहार हो रहा है। आज हमारी एकता को चुनौती दी जा रही है। देश को तभी बचाया जा सकता है, यदि हम धर्म एवं जाति के आधार पर विभाजित नहीं हों।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:AAP releases Manifesto for Lok Sabha Elections 2019 for delhi