DA Image

अगली स्टोरी

Bihar exit polls 2019: एनडीए को 33 और यूपीए को 7 सीट का अनुमान- सी वोटर 

Bihar exit polls 2019: एनडीए को 33 और यूपीए को 7 सीट का अनुमान- सी वोटर 

Bihar Exit polls 2019 live updates: लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम आने में अभी कुछ दिन शेष हैं। मगर आज आए एग्जिट पोल के नतीजों में भाजपा को बिहार में काफी सीटें मिल रही हैं। एबीपी के एग्जिट पोल के मुताबिक बिहार में भाजपा इस बार 34 सीटें जीत सकती है। वहीं कांग्रेस को मात्र 6 सीटों से संतोष करना हो सकता है। इस बार लोकसभा चुनाव में बिहार मीडिया की सुर्खियों में काफी छाया रहा। खासतौर तौर पर बेगूसराय सीट पर कन्हैया की उम्मीदवारी को लेकर। बिहार में इस बार बीजेपी नीतीश कुमार की पार्टी जदयू के साथ मिलकर चुनाव लड़ी थी। जहां पिछले चुनाव में दोनों के रास्ते अलग थे। इसलिए बीजेपी को बिहार से पिछले चुनाव की तुलना में ज्यादा सीटों की उम्मीद होगी। वहीं, 2014 लोकसभा चुनाव के मुकाबले बिहार में इस बार महागठबंधन ज्यादा मजबूत नजर आया। बिहार में बीजेपी के साथ जहां जदयू और लोजपा है, वहीं कांग्रेस के साथ राजद, हम, वीआईपी और रालोसपा है। इस बार बिहार में बीजेपी के साथ रालोसपा नहीं है, क्योंकि सीटों के बंटवारे को लेकर रालोसपा एनडीए से अलग हो गई थी। बिहार में चुनाव प्रचार काफी जोर-शोर से हुआ। अब देखना होगा कि 23 मई को नतीजे जब आएंगे तो किस पार्टी को कितनी सीटें मिलेंगी। 

2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को 23 सीटें हासिल हुई थी। वहीं राजद को महज 4 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा था। नीतीश कुमार की पार्टी जदयू जो एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ी थी, वह 2 सीटें ही हासिल कर पाई थी। इस चुनाव में कांग्रेस दो सीट जीत पाई थी और लोजपा 6 सीट। इस बार भी बीजेपी को ज्यादा सीटों की उम्मीद होगी। 

चैनल/एजेंसी                                         बीजेपी+     महागठबंधन+     अन्य

टाइम्स नाउ-वीएमआर                                  30                  10
इंडिया टुडे-एक्सिस                                  38-40                 0-2
सीएनएन आईबीएन-आईपीएसओएस         34-36             04-06
एबीपी-एसी नीलसन                                      34                  06
रिपब्लिक टीवी- सी वोटर                                33                  07 
न्यूज24- चाणक्य                                          32                  08  
इंडिया टीवी- सीएनएक्स                                  32                  07               01

 

(डिसक्लेमर: एग्जिट पोल के नतीजे गलत भी हो सकते हैं।)

Sun, 19 May 2019 06:28 PM IST

बहन मीसा के लिए दूरी खत्म कर करीब आए तेजस्वी और तेजप्रताप

अपना खून तो अपना ही होता है। यह बात लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में बिहार में भी सच साबित प्रतीत होती है क्योंकि आपस में झगड़ रहे लालू प्रसाद के बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव अपने झगड़े को भूलकर अपनी सबसे बड़ी बहन मीसा भारती की जीत के लिए मिलकर मैदान में उतर गए हैं। लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप ने हाल में राजद की छात्र इकाई के संरक्षक पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने लोकसभा चुनाव के लिए अपने द्वारा सुझाए गए नामों की अनदेखी किए जाने के बाद यहां तक कि कुछ सीटों पर राजद उम्मीदवारों के खिलाफ प्रचार भी किया।

हालांकि अपनी बहन भारती के प्रति उनकी वफादारी कम नहीं हुई और वह उनके पक्ष में अपनी मां राबड़ी देवी के साथ प्राय: प्रचार करते दिखते हैं। रविवार को यह पहला मौका था जब उन्होंने अपने भाई तेजस्वी के साथ मिलकर बहन के लिए प्रचार किया। भारती पाटलिपुत्र से चुनाव मैदान में हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में वह हार गई थीं। इस सीट पर 2009 में लालू मित्र से प्रतिद्वंद्वी बने रंजन प्रसाद यादव से हार गए थे।

Sun, 19 May 2019 06:24 PM IST

बिहार के पांच प्रत्याशी ऐसे, जो जीते तो पहली बार जाएंगे लोकसभा

बिहार में अंतिम चरण के चुनाव में एनडीए और महागठबंधन के घटकदलों के पांच उम्मीदवार ऐसे हैं जो इस बार जीते तो पहली बार लोकसभा में जाएंगे। वहीं दस ऐसे उम्मीदवार हैं, जो लोकसभा का सदस्य हैं या पहले रह चुके हैं। अंतिम और सातवें चरण का चुनाव 19 मई को आठ सीटों पर होना है। चुनाव में जीत होने पर पहली बार लोकसभा में जाने का जिन्हें मौका मिलेगा उनमें केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और राज्यसभा सदस्य मीसा भारती भी शामिल हैं। ये दोनों राज्यसभा सांसद हैं और कभी लोकसभा के सदस्य नहीं रहे हैं। इनके अलावा पहली बार लोकसभा जाने की तैयारी में जहानाबाद के जदयू उम्मीदवार चंद्रेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी हैं। चंद्रवंशी पहली बार जदयू से मैदान में हैं। वैसे यहां से वर्तमान सांसद अरुण कुमार भी रालोसपा (एस) से चुनाव लड़ रहे हैं। आरा से भाकपा माले के राजू यादव और नालंदा से हम के उम्मीदवार अशोक चंद्रवंशी भी चुनाव जीतेंगे तो पहली बार लोकसभा जाएंगे।

Sun, 19 May 2019 05:18 PM IST लालू यादव का दांत उखाड़ा गया (फाइल फोटो)

लालू की गैरमौजूदगी में पहली बार चुनाव:

इस बार का लोकसभा चुनाव राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की गैरमौजूदगी में लड़ा गया। इस बार राजद की कमान लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे और सूबे के पूर्व उपमुख्यमंत्री रह चुके तेजस्वी यादव के हाथ में थी। यूं कहा जाए तो पूरे चुनाव प्रचार में बिहार में तेजस्वी यादव ही महागठबंधन का चेहरा नजर आए। इस बार सबकी नजरें इस बात पर टिकी हैं कि पहली बार लालू प्रसाद यादव की गैरमौजूदगी में राजद कैसा प्रदर्शऩ कर पाती है।

Sun, 19 May 2019 05:17 PM IST

शत्रुघ्न सिन्हा बनाम रविशंकर प्रसाद:

पटना साहिब से इस बार भी शत्रुघ्न सिन्हा चुनावी मैदान में उतरे, मगर पार्टी और निशान अलग था। बीजेपी का दामन छोड़ कांग्रेस का हाथ थामने वाले शत्रुघ्न सिन्हा की पटना साहिब से उम्मीदवारी और उनके खिलाफ केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की उम्मीदवारी ने मुकाबले को और भी रोमांचक बना दिया।

Sun, 19 May 2019 05:16 PM IST

कन्हैया कुमार बनाम गिरिराज सिंह:

जेएनयू में छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष रह चुके कन्हैया कुमार की बेगूसराय सीट से उम्मीदवारी ने लोकसभा चुनाव में खूब चर्चा बटोरी। बीजेपी के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह और सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार के बीच मुकाबला काफी दिलचस्प रहा। हालांकि, यहां से राजद के तनवीर हसन ने भी मजबूत दावेदारी पेश की। इस कारण कन्हैया बनाम गिरिराज सिंह की वजह से बिहार का चुनाव काफी चर्चा में रहा। 

Sun, 19 May 2019 05:09 PM IST

2014 में भाजपा को मिली थी 23 सीटें

2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को 23 सीटें हासिल हुई थी। वहीं राजद को महज 4 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा था। नीतीश कुमार की पार्टी जदयू जो एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ी थी, वह 2 सीटें ही हासिल कर पाई थी। इस चुनाव में कांग्रेस दो सीट जीत पाई थी और लोजपा 6 सीट। इस बार भी बीजेपी को ज्यादा सीटों की उम्मीद होगी। तो चलिए जानते हैं कि इस बार एग्जिट पोल में बिहार में किस पार्टी को कितनी सीटें मिलती दिख रही हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bihar exit polls 2019: एनडीए को 33 और यूपीए को 7 सीट का अनुमान- सी वोटर 

पत्नी को कपड़े डोनेट करने को क्यों मना किया

पत्नीः अपने पुराने कपड़े डोनेट करूं क्या?

पतिः डोनेट क्या करना, फेंक दे...

पत्नीः नहीं जी, दुनिया में बहुत सी गरीब, भूखी प्यासी औरते हैं, कोई भी पहन लेगी।

पतिः तेरे नाप के कपड़े जिसको आएंगे वो भूखी प्यासी थोड़ी ही होगी...