DA Image
4 नवंबर, 2020|2:23|IST

अगली स्टोरी

'वर्क फ्रॉम होम' ने बनाया घर को मकान, 80 प्रतिशत लोगों ने खर्च किए इस चीज को खरीदने में हजारों रुपये

work from home

'वर्क फ्रॉम होम'  ने घर से मोहभंग कर दिया है। येल रिटेल यूके के हालिया सर्वे की मानें तो एक-चौथाई कर्मचारी अब बेडरूम की चारदीवारी में सुकून तलाशने में मुश्किलों का सामना करते हैं। दो-तिहाई को हर पल छुट्टी का इंतजार होता है, ताकि वे कुछ घंटों के लिए दफ्तर के माहौल से बाहर निकल सकें। 

सर्वे में देखा गया कि पहले कर्मचारी रोजाना औसतन नौ घंटे घर में बिताते थे। हालांकि, कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन के बाद से यह अवधि 17 घंटे के करीब हो गई है। आलम यह है कि 35 फीसदी कर्मचारियों को घर ऑफिस जैसा लगने लगा है। वहीं, 38 फीसदी शाम को बाहर निकलने के बहाने ढूंढते नहीं थकते, ताकि उन्हें खुली हवा में सांस लेने का एहसास हो सके। 29 फीसदी को अब घर ‘घर’ नहीं, ‘मकान’ जैसा लगने लगा है।

मुख्य शोधकर्ता डंकन चैंबरलेन के मुताबिक ‘वर्क फ्रॉम होम’ ने घर और दफ्तर के बीच की दीवार को धुंधला कर दिया है। कर्मचारी जब ऑफिस का काम निपटा रहे होते हैं तो उनका ध्यान घरेलू जिम्मेदारियों में उलझा रहता है। वहीं, जब वे काम से फुरसत पाकर कुछ पल आराम करने की सोचते हैं तो बॉस कोई नया प्रोजेक्ट थमा देता है। नौकरी जाने के डर और कोरोना के चलते घर में कैद होने की मजबूरी को देखते हुए वे चाहकर भी बॉस का हुक्म नहीं टाल पाते।

सर्वे का सच-
-कोविड-19 की दस्तक से पहले 09 घंटे औसतन घर पर गुजरते थे। 
-यह अवधि लॉकडाउन लागू होने के बाद से 17 घंटे के करीब हो गई। 
-38% लोग शाम को घर से बाहर निकलने के बहाने ढूंढते नहीं थकते।

सजावट पर जोर
-58% घर पर ज्यादा समय गुजारने के चलते उसके रखरखाव, सजावट पर ज्यादा ध्यान दे रहे
-80% ने फर्नीचर, ऑफिस सेटअप और सुरक्षा उपायों पर औसतन 60 हजार रुपये खर्च किए
-63% ने सकारात्मक ऊर्जा हासिल करने को घर की दीवारें रंगीं या फिर गार्डन को नया रूप दिया

यह भी पढ़ें - डियर गर्ल्‍स, आपकी सेहत और सौंदर्य दोनों के लिए बहुत जरूरी है प्रोटीन, हम बता रहे हैं इसके फायदे

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:work from home side effects: Work from home made a home to a house 80 percent people spent thousands of rupees to buy furniture to change the look of their house