DA Image
20 सितम्बर, 2020|2:02|IST

अगली स्टोरी

वर्क फ्रॉम होम के दौरान उत्पादकता बढ़ाने के लिए किराए पर कमरा ले रहे लोग

office

घर में ऑफिस का काम करते समय दफ्तर जैसा माहौल मिलना मुश्किल होता है। ऐसे में अमेरिका में नौकरीपेशा लोग किराए पर घर लेकर ‘वर्क फ्रॉम होम’ कर रहे हैं। उनका कहना है कि इससे उनकी उत्पादकता बढ़ रही है। साथ ही तनाव पर नियंत्रण हासिल करने में मदद मिल रही है।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण अमेरिका के ज्यादातर दफ्तर बंद हैं। ऐसे में कर्मचारी घर से ही काम करने को मजबूर हैं। न्यूयॉर्क सिटी के फिलिप वास्केलसोस कहते हैं कि अब उन्हें पूरे दिन अपने कमरे में बैठकर काम नहीं करना पड़ता, न ही वे दफ्तर जाते हैं।

दरअसल, फिलिप जिस अपार्टमेंट में रह रहे हैं, उन्होंने उसी की छठी मंजिल पर 450 वर्ग फीट के दायरे में बना स्टूडियो अपार्टमेंट किराए पर ले लिया। इसके लिए वह 2100 डॉलर (करीब 1.47 लाख रुपये) प्रति महीने की दर से भुगतान कर रहे हैं। 

वहीं, अलबामा निवासी ग्रेसी कहती हैं, ‘वर्क फ्रॉम होम’ में काम में ध्यान लगाना काफी मुश्किल होता है। कई बार खराब नेटवर्क से चिड़चिड़ाहट होती है तो कई बार परिजनों की मौजूदगी के चलते शोरगुल बना रहता है। इसके चलते काम की गुणवत्ता प्रभावित होना लाजिमी है। हालांकि, अब उन्होंने अपने कई सहकर्मियों की तरह ही घर के नजदीक एक छोटी-सी जगह लेकर वहां ऑफिस सेटअप लगाने का फैसला किया है।

कुछ कर्मचारियों ने फ्लैट तक खरीदा-
-आईटी पेशेवर एजेंट एलन क्लेन और उनकी पत्नी लैंडस्केप डिजाइनर जेफरी एर्ब ने तो काम करने के लिए एक अलग फ्लैट ही खरीद लिया है। उनका कहना है कि अब वे हर दिन काम करके घर लौटते हैं तो उन्हें संतुष्टि मिलती है।   

नियोक्ता बना रहे ज्यादा काम का दवाब-
-ज्यादातर पेशेवरों ने ‘वर्क फ्रॉम होम’ में नियोक्ता की ओर से अतिरिक्त काम करने के लिए दवाब बनाने का आरोप लगाया। ऐसे में काम की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए वे आर्थिक तंगी के बावजूद किराए पर कमरा या फ्लैट लेने को मजबूर हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Work from home:People renting a room to increase productivity during work from home