फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइलतेज टहलने वाली महिलाओं में हार्ट फेल का खतरा कम

तेज टहलने वाली महिलाओं में हार्ट फेल का खतरा कम

धीमे गति से टहलने वाली महिलाओं की तुलना में तेज गति से टहलने वाली महिलाओं को हार्ट फेल का खतरा 34 फीसदी तक कम होता है। अमेरिका के ब्राउन यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने उम्रदराज महिलाओं पर करीब दो दशक...

तेज टहलने वाली महिलाओं में हार्ट फेल का खतरा कम
Pratima Jaiswalहिन्दुस्तान ब्यूरो,नई दिल्लीThu, 27 Jan 2022 09:30 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

धीमे गति से टहलने वाली महिलाओं की तुलना में तेज गति से टहलने वाली महिलाओं को हार्ट फेल का खतरा 34 फीसदी तक कम होता है। अमेरिका के ब्राउन यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने उम्रदराज महिलाओं पर करीब दो दशक तक किए शोध में यह दावा किया है।
वैज्ञानिकों ने 25 हजार से अधिक महिलाओं की दिनचर्या को लंबे वक्त तक देखा और पाया कि इस अवधि में 1,455 महिलाओं को हृदयाघात हुआ। जिसका मतलब है कि उनका हृदय रक्त को पंप करके पूरे शरीर तक पहुंचाने का काम करने लायक सक्षम नहीं रह गया था।
हृदयाघात का खतरा 34 फीसदी कम था : वैज्ञानिकों ने शोध में शामिल महिलाओं से कुछ प्रश्न पूछे, जिसमें उन्हें बताना था कि क्या वे दो मील प्रति घंटा (3.2 किलोमीटर) की गति से, दो से तीन मील की औसत गति से या तीन मील (4.8 किलोमीटर ) प्रति घंटा से अधिक गति से चलती हैं। शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों के जवाब के आधार पर बताया कि जो महिलाएं तेजी से चलती थीं, उनमें हृदयाघात विकसित होने का खतरा 34 फीसदी कम था।
17 साल तक किया अध्ययन : अमेरिकी वैज्ञानिकों ने 50 से 79 साल की 25,183 महिलाओं के स्वास्थ्य की 17 साल की निगरानी की, जिसके बाद उनमें हृदयाघात की संभावनाओं पर अपने परिणाम दिए हैं। यह अध्ययन हाल ही में अमेरिकन जीरियाट्रिक्स सोसाइटी जर्नल में प्रकाशित किया गया।
तेज चलना दिल की सेहत के लिए अच्छा
वैज्ञानिकों का कहना है कि तेज चलना हृदय के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। तेज गति से चलने के कारण शरीर में रक्तसंचार की प्रकिया संतुलित रहती है। हृदय बेहतर ढंग से काम करता है। इससे हृदय संबंधी तकलीफों का भी खतरा कम रहता है। औसत गति से हटलने वाले लोगों में भी हृदय संबंधी तकलीफों का खतरा 27 फीसदी तक कम होता है।

हृदय की कार्यक्षमता पर असर
प्रमुख शोधकर्ता डॉ. चार्ल्स एटॉन ने बताया है कि शोध के दौरान 1455 महिलाओं में हृदयाघात जैसी परेशानी आयी। इसका मतलब ये है कि इन महिलाओं के हृदय से शरीर में पर्याप्त मात्रा में रक्त पहुंचने की प्रकिया बाधित होने लगी थी। ये बढ़ती उम्र की तकलीफ है जिसे बेहतर जीवनशैली के जरिए ठीक रखा जा सकता है।
बेहतरीन व्यायाम है तेजी से चलना
वैज्ञानिकों का कहना है कि थोड़े समय के लिए तेज वॉक उतना ही फायदेमंद है जितना सप्ताभर में 150 मिनट का व्यायाम होता है। वैज्ञानिकों ने कहा है कि अभी ये स्पष्ट नहीं है कि बुजुर्ग महिलाओं को अपने स्तर से हार्ट फेल से बचने के लिए तेज गति से टहलना चाहिए। इसके पीछे और भी कारक भी हो सकते हैं।

epaper