फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइलबूस्टर डोज को लेकर डब्ल्यूएचओ ने चेताया, कहा नई वैक्सीन की जरूरत, जो बेहतर सुरक्षा दे सके

बूस्टर डोज को लेकर डब्ल्यूएचओ ने चेताया, कहा नई वैक्सीन की जरूरत, जो बेहतर सुरक्षा दे सके

बार-बार कोरोना वैक्सीन की बूस्टर खुराक देने पर विश्व स्वास्थ्य संगठन(डब्ल्यूएचओ) ने चेतावनी दी है। डब्ल्यूएचओ के विशेषज्ञों ने कहा है कि बार-बार बूस्टर डोज के तौर पर देना नए स्वरूप के खिलाफ कारगर...

बूस्टर डोज को लेकर डब्ल्यूएचओ ने चेताया, कहा नई वैक्सीन की जरूरत, जो बेहतर सुरक्षा दे सके
Manju Mamgainएजेंसी,जिनेवाWed, 12 Jan 2022 11:11 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

बार-बार कोरोना वैक्सीन की बूस्टर खुराक देने पर विश्व स्वास्थ्य संगठन(डब्ल्यूएचओ) ने चेतावनी दी है। डब्ल्यूएचओ के विशेषज्ञों ने कहा है कि बार-बार बूस्टर डोज के तौर पर देना नए स्वरूप के खिलाफ कारगर रणनीति नहीं है। इसकी जगह नई वैक्सीन दी जानी चाहिए, जो संक्रमण से बेहतर सुरक्षा दे सके। 

डब्ल्यूएचओ की तकनीकी सलाहकार समूह ने एक बयान में कहा, बूस्टर खुराक को दोहरा उचित या टिकाऊ समाधान नहीं है। प्रारंभिक आंकड़ों से संकेत मिलता है कि मौजूदा टीके उन लोगों में संक्रमण रोकने में कम प्रभावी थे जो ओमीक्रोन से संक्रमित हुए थे। ओमीक्रोन पूरी दुनिया में जंगल की आग की तरह फैल रहा है। 

यह भी पढ़े :  Thyroid Awareness Month: अगर आप थायराइड से पीड़ित हैं, तो इन फूड्स को अपनी डाइट से करें बाहर

विशेषज्ञों ने ऐसे टीके विकसित करने की सिफारिश की जो न केवल लोगों को गंभीर रूप से बीमार पड़ने से बचाते हैं बल्कि शुरुआती संक्रमण को बेहतर ढंग से रोक सकते हैं। इसलिए गंभीर बीमारी और मौतें रोकने के अलावा ऐसे टीके बनने चाहिए जो संक्रमण रोकने में ज्यादा कारगर है। जब तक इस तरह के टीके उपलब्ध नहीं हैं, तब तक वर्तमान टीकों की संरचना को अद्यतन करने की आवश्यकता हो सकती है।

epaper