Wednesday, January 19, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइलValentine's Day 2020: मिर्ज़ा गालिब की इन 10 चुनिंदा शेरो-शायरी से जीतें अपने पार्टनर का दिल

Valentine's Day 2020: मिर्ज़ा गालिब की इन 10 चुनिंदा शेरो-शायरी से जीतें अपने पार्टनर का दिल

लाइव हिन्दुस्तान टीम ,नई दिल्ली Pratima
Fri, 14 Feb 2020 01:53 PM
Valentine's Day 2020: मिर्ज़ा गालिब की इन 10 चुनिंदा शेरो-शायरी से जीतें अपने पार्टनर का दिल

‘वैलेंटाइन डे’ से पहले फरवरी के शुरू होते ही कपल इस दिन को स्पेशल बनाने के लिए तरह-तरह की प्लानिंग शुरू कर देते हैं। ऐसे में अगर आप अपने पार्टनर को शायरी सुनाकर इम्प्रेस करना चाहते हैं, तो आप मिर्जा गालिब की इन चुनिंदा शेरो-शायरी को अपने पार्टनर के सामने पेश करके उनका दिल जीत सकते हैं। आइए, डालते हैं एक नजर-  


उन के देखे से जो आ जाती है मुँह पर रौनक़ 
वो समझते हैं कि बीमार का हाल अच्छा है 


मोहब्बत में नहीं है फ़र्क़ जीने और मरने का 
उसी को देख कर जीते हैं जिस काफ़िर पे दम निकले 


आह को चाहिए इक उम्र असर होते तक 
कौन जीता है तिरी ज़ुल्फ़ के सर होते तक 


क़ासिद के आते -आते खत एक और लिख रखूँ
मैं जानता हूँ जो वो लिखेंगे जवाब में


क़र्ज़ की पीते थे मय लेकिन समझते थे कि हाँ
रंग लावेगी हमारी फ़ाक़ा-मस्ती एक दिन

 

आईना क्यूँ न दूँ कि तमाशा कहें जिसे
ऐसा कहाँ से लाऊँ कि तुझ-सा कहें जिसे

 

आईना देख अपना सा मुँह ले के रह गए 
साहब को दिल न देने पे कितना ग़ुरूर था

 

आगे आती थी हाल-ए-दिल पे हँसी 
अब किसी बात पर नहीं आती

 

आशिक़ी सब्र-तलब और तमन्ना बेताब 
दिल का क्या रंग करूँ ख़ून-ए-जिगर होते तक 


नींद उस की है दिमाग़ उस का है रातें उस की हैं 
तेरी ज़ुल्फ़ें जिस के बाज़ू पर परेशाँ हो गईं

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें