DA Image
Tuesday, December 7, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइलबदलते मौसम में इम्यूनिटी मजबूत कर सर्दी-जुकाम से रखेगा दूर बेसन का शीरा, नोट करें पंजाबी Recipe

बदलते मौसम में इम्यूनिटी मजबूत कर सर्दी-जुकाम से रखेगा दूर बेसन का शीरा, नोट करें पंजाबी Recipe

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीManju Mamgain
Thu, 21 Oct 2021 01:38 PM
बदलते मौसम में इम्यूनिटी मजबूत कर सर्दी-जुकाम से रखेगा दूर बेसन का शीरा, नोट करें पंजाबी Recipe

Besan Ka Sheera Recipe: मौसम बदलते ही लोगों को सबसे ज्यादा सर्दी-जुकाम और खांसी परेशान करने लगती है। ऐसे में इन समस्याओं से राहत पाने के जरूरत से ज्यादा लिए गए एंटीबायोटिक आपको फायदे की जगह नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। सर्दियों के मौसम में जो लोग सर्दी-जुखाम की चपेट में जल्दी आ जाते हैं उनके लिए बेसन के शीरे का सेवन बेहद फायदेमंद होता है। बेसन का शीरा पीने से आपकी इम्यूनिटी अच्छी होती है और व्यक्ति कई तरह के संक्रमणों से भी दूर रहता है। तो देर किस बात की आइए जानते हैं कैसे बनाया जाता है पंजाबी रसोई में बनने वाला बेसन का टेस्टी शीरा। 

बेसन का शीरा बनाने के लिए जरूरी सामग्री -
-बेसन - तीन चम्मच
-देसी घी - एक बड़ा चम्मच
-एक इलायची (कुटी हुई)
-शक्कर - दो चम्मच
-दूध - डेढ़ कप 
-हल्दी- एक चुटकी

besan ka sheera

बेसन का शीरा बनाने का तरीका-
बेसन का शीरा बनाने के लिए सबसे पहले कढ़ाई में घी गर्म करके उसमें बेसन डालें। अब इस बेसन को धीमी आंच पर हल्का भूरा होने तक पकाएं। बेसन भूनने पर सुगंध देने लगेगा। इसके बाद इसमें इलायची, हल्दी और गुड़ डालें। थोड़ी देर बाद इसमें दूध मिलाकर लगातार चलाते हुए घोलते रहें। ऐसा इसलिए करें ताकि इसमें गांढ़ें न पड़ें। आपका गर्मागर्म बेसन का शीरा सर्व करने के लिए तैयार है।  

यह भी पढ़ें : Karwa Chauth 2021:क्या सरगी में अनार खाने से दिन भर प्यास नहीं लगती? आइए पता करते हैं

बेसन के शीरे के फायदे-
-बेसन में प्रोटीन की अधिकता होने की वजह से ये लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाला होता है। जिसकी वजह से वेट लॉस ही नहीं  डायबिटीज में भी फायदा मिलता है।  
-हड्डियों के लिए भी बेसन बेहद फायदेमंद होता है। बेसन में कैल्शियम, मैग्नीशियम और फॉसफोरस प्रचूर मात्रा में मौजूद होता है,  जो हड्डियों के लिए बेहद जरूरी है। जिन लोगों को आस्टियोपोरेसिस या हड्डियों की कमजोरी की समस्या हो उन्हें बेसन का सेवन करना चाहिए।  
-बेसन में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स की अच्छी मात्रा छाती और फेफड़ों में होने वाली समस्याओं को दूर रखने में मदद करती हैं। 
- बेसन में फोलेट्स की प्रचुर मात्रा नौ माह में भ्रूण के दिमाग और रीढ़ की हड्डी के विकास में सहयोगी होता है। 
-बेसन में मौजूद फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। अगर आप बेसन के शीरे को गुड़ डालकर बनाते हैं, तो ये आपका वजन घटाने में भी मदद कर सकता है।

 

यह भी पढ़ें : बिना डाइटिंग या एक्सरसाइज के भी कम किया जा सकता है बेली फैट, हम बता रहे हैं कैसे

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें