DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थकान ही नहीं पथरी का खतरा भी दूर रखेगी कॉफी, पढ़ें पूरी खबर

coffee

आज तक आप कॉफी का सेवन सुस्ती या नींद भगाने के लिए करते रहे होंगे। लेकिन हाल ही में हुआ एक  शोध आपको इसका सेवन करने के लिए एक और नई वजह दे रहा है। जी हां इस शोध के अनुसार कॉफी न सिर्फ आपकी सुस्ती दूर करती हैं बल्कि इसका सेवन करने से  पित्ताशय में पथरी होने का खतरा भी कम हो जाता है।

इस शोध के अनुसार, दिन में छह या उससे ज्यादा कप कॉफी पीने से पित्ताशय में पथरी होने का खतरा कम हो जाता है। एक हालिया शोध में यह दावा किया गया है। कॉफी के ज्यादा सेवन करने वालों के पित्ताशय में पथरी होने का खतरा कॉफी नहीं पीने वालों की तुलना में 23 फीसदी तक कम होता है।

शोधकर्ताओं ने इस शोध के दौरान 104,500 व्यस्कों के स्वास्थ्य और जीवनशैली के डाटा का विश्लेषण किया। इन प्रतिभागियों की निगरानी 13 वर्षों तक की गई। उन्होंने सेवन की गई कॉफी की मात्रा और पित्ताशय में होने वाली पथरी के बीच संबंध खोजने की कोशिश की। डेनमार्क के कोपेनहेगन यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल के शोधकर्ताओं की एक टीम ने यह अध्ययन किया।

कॉफी पीने से हुआ फायदा- 
शोध के दौरान पाया गया कि दिन में एक कप कॉफी पीने से पित्ताशय में पथरी होने का खतरा तीन फीसदी तक कम हुआ, लेकिन कई कप कॉफी पीने से यह खतरा और कम आंका गया। यूरोपीय गाइडलाइंस के अनुसार एक दिन में 400 मिलीग्राम से ज्यादा कैफीन का सेवन नहीं करना चाहिए। एक कप कॉफी में 70 से 140 मिलीग्राम तक कैफीन होता है।

यह पथरी एक ठोस पदार्थ होती है जो पित्ताशय के अंदर बनती है। यूके में दस में से एक व्यक्ति को पथरी की समस्या है। यह पथरी रेत के दाने से लेकर छोटे पत्थरों के आकार की हो सकती हैं। यह बाइल जूस में मौजूद रसायनों से बनती है। इनमें कोलेस्ट्रोल, कैल्शियम और लाल रक्त कोशिकाओं का रंग भी शामिल होता है। यह पथरी उच्च कोलेस्ट्रोल वाला खाना खाने की वजह से होती है। इसका सबसे आम लक्षण पेट में दर्द होता है।

शोधकर्ताओं ने कहा कि कैफीन पित्त के माध्यम से जारी किया जाता है और इसमें मेथिलक्सैन्थिन नामक रासायनिक यौगिक होता है जो एसिड के उत्पादन को सक्रिय करता है। उन्होंने कहा कि इससे कोलेस्ट्रॉल को पथरी बनने से रोका जा सकता है।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:thakaan he nahin pathree ka khatara bhee door rakhegee kophee padhen pooree khabar