DA Image
29 अक्तूबर, 2020|3:46|IST

अगली स्टोरी

Covid-19: कोरोना वायरस खत्म कर सकता है टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन, वैज्ञानिकों ने जताई चिंता

testosterone test

वैज्ञानिकों ने चिंता जताई है कि कोरोना वायरस टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन को खत्म कर सकता है। सार्स-सीओवी-2 वायरस पुरुषों को संक्रमित करने के बाद उनमें टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन के स्तर को बिगाड़ सकता है। हार्मोन के स्तर में ज्यादा गिरावट होने पर रोगी की हालात गंभीर हो सकती है। 

द एजिंग माले नामक शोध पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है कि जैसे ही पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन का स्तर घटता जाता है, उनके लिए आईसीयू में भर्ती होने की संभावना काफी बढ़ जाती है।

मेर्सिन विश्वविद्यालय में यूरोलॉजी के प्रोफेसर सेलाहिटिन सियान के अनुसार, यह पहले ही स्पष्ट है कि टेस्टोस्टेरॉन का कम होना कोरोना रोगियों के लिए खराब स्थिति का कारण हो सकता है। पहले किए गए अध्ययन में यह साफ हो चुका है कि कोविड-19 ही टेस्टोस्टेरॉन को कम करता है। 

शोधकर्ताओं के अनुसार, जिन रोगियों की मृत्यु हुई, उनमें जीवित रोगियों की तुलना में औसत टेस्टोस्टेरॉन कम था। उन्होंने कहा कि टेस्टोस्टेरॉन श्वसन अंगों की प्रतिरक्षा प्रणाली से जुड़ा होता है और श्वसन संक्रमण के जोखिम को बढ़ाता है।

वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि निष्कर्ष यह बता सकते हैं कि कोरोना संक्रमित महिलाओं की तुलना में पुरुषों में बीमारी का स्तर ज्यादा गंभीर है। इसलिए, टेस्टोस्टेरॉन आधारित उपचारों का उपयोग करके नैदानिक ​​परिणामों में संभावित सुधार की खोज में मदद मिलती है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:side effects of Covid-19: corona virus can eliminate Testosterone hormone scientists have expressed concern