DA Image
29 जून, 2020|7:00|IST

अगली स्टोरी

जीवनसाथी की लगातार आलोचना से बढ़ता है मौत का खतरा, जानें क्या कहता है यह चौंकाने वाला शोध

couple

पति-पत्नी के बीच अक्सर नोकझोंक होती रहती है। लेकिन, लगातार जीवनसाथी की आलोचना करने से उनकी जल्दी मौत होने का खतरा बढ़ जाता है। एक हालिया शोध में यह खुलासा हुआ है। पेंसिल्वेनिया के लाफयेते  कॉलेज किए गए शोध में दर्शाया गया है कि जो बुजुर्ग अपने जीवनसाथी से लगातार आलोचना का शिकार होते हैं उनकी पांच सालों के अंदर मौत होने की संभावना बढ़ जाती है। 

वास्तव में, जिन लोगों की सबसे अधिक आलोचना की गई थी, उनकी मौत होने की संभावना दोगुनी पाई गई।  शोधकर्ताओं ने ऐसे लोगों की पांच सालों तक निगरानी करने के बाद पाया कि सबसे कम आलोचना प्राप्त करने वालों की तुलना में इनमें जोखिम ज्यादा था। 

महिला और पुरुषों पर समान प्रभाव-
इसका प्रभाव पुरुषों और महिलाओं के लिए समान था और इसमें अन्य करीबी परिवार या दोस्त जैसे कारक शामिल नहीं थे। प्रमुख लेखक प्रोफेसर जमीला बुकवाला ने कहा कि लगातार आलोचना से दिमाग के साथ शरीर पर भी दुष्प्रभाव पड़ता है।  उन्होंने कहा, ये अन्य प्रकार के तनावों की तरह ही है जो सिर्फ स्वास्थ्य और सेहत पर ही प्रभाव नहीं डालता बल्कि इसका संबंध मृत्यु से भी होता है। 

ऐसे किया अध्ययन-
पेनसिल्वेनिया में लाफयेते कॉलेज से प्रोफेसर बुकवाला की टीम ने 1,734 पुरुषों और महिलाओं के डेटा का विश्लेषण किया। सभी की आयु 57 से 85 के बीच थी। इनमें 90 प्रतिशत विवाहित थे। बाकी एक साथ या अन्यथा अंतरंग संबंध में रह रहे थे। इनमें से 44 फीसदी लोग अत्यधिक आलोचना का शिकार थे और पांच सालों के अंदर उनकी मौत हो गई। वहीं, जिनकी आलोचना का स्तर थोड़ा कम था उनमें मौत का खतरा भी कम पाया गया। इस शोध को पत्रिका हेलथ साइकोलॉजी में प्रकाशित किया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:shocking relationship research:Constant criticism of spouse can increases the risk of death