DA Image
17 सितम्बर, 2020|4:14|IST

अगली स्टोरी

खारा पानी 30 मिनट में बन जाएगा पीने लायक, वैज्ञानिकों ने खोजी नई तकनीक

water

दुनियाभर में पानी की जरूरत बढ़ने के कारण मीठे पानी की किल्लत बढ़ती जा रही है। ऐसे में समुद्री पानी को पीने योग्य बनाने के लिए एक नई तकनीक की खोज की गई है। ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं ने सिर्फ उच्च तकनीक के फिल्टर और सूर्य की रोशनी के इस्तेमाल से 30 मिनट से भी कम समय में बड़े स्तर पर समुद्र के खारे पानी को पीने लायक बनाने वाली विश्व की पहली तकनीक विकसित की है। 

मेलबर्न स्थित मोनाश विश्वविद्यालय के अनुसार विशेष रूप से डिजाइन यह तकनीक प्रतिदिन सैकड़ों लीटर समुद्र जल को पीने योग्य बदलने की क्षमता रखता है। 

सस्ती है तकनीक-
इस प्रक्रिया के लिए सिर्फ प्रत्यक्ष रूप से सूरज की रोशनी की आवश्यकता होती है जो इस तकनीक को कम लागत वाला और टिकाऊ भी बनाता है। मोनाश यूनिवर्सिटी के रसायन इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर हुआटिंग वांग ने कहा कि विश्व में जलसंकट को दूर करने के लिए समुद्र जल को इस्तेमाल योग्य बनाने का विकल्प बेहतर है। 

उन्होंने कहा, विश्व में पानी की कमी के बढ़ते संकट को दूर करने के लिए इस प्रक्रिया का इस्तेमाल किया गया है। विश्व में बड़े पैमाने पर समुद्र जल और खारे पानी की उपलब्धता के कारण इस तरह की प्रक्रियाएं बेहतर और विश्वसनीय हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:scientists discover new technology which says salty water will become drinkable in 30 minutes