फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइललड़कों को बिल्कुल पसंद नहीं होती 'चिपकू' गर्लफ्रेंड, कहीं आप में भी तो नहीं ये 5 आदतें?

लड़कों को बिल्कुल पसंद नहीं होती 'चिपकू' गर्लफ्रेंड, कहीं आप में भी तो नहीं ये 5 आदतें?

अपने रिश्ते में यह समझना जरूरी हो जाता है कि केयरिंग और चिपकू होने में क्या है बड़ा फर्क। आइए जानते हैं आखिर चिपकू गर्लफ्रेंड में होते हैं कौन से लक्षण, जिनसे दूर भगाते हैं लड़के। 

लड़कों को बिल्कुल पसंद नहीं होती 'चिपकू' गर्लफ्रेंड, कहीं आप में भी तो नहीं ये 5 आदतें?
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 29 Sep 2022 02:41 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

Signs Of Chipku Girlfriend: दो प्यार में डूबे लोग एक दूसरे से सिर्फ प्यार और हर पल का साथ चाहते हैं। लेकिन कई बार जरूरत से ज्यादा करीबी की वजह से दूसरे व्यक्ति का दम घुटने लगता है और वो अपने पार्टनर को चिपकू समझकर उससे पीछा छुड़ाने के बहाने खोजने लगता है। ऐसे में अपने रिश्ते में यह समझना जरूरी हो जाता है कि केयरिंग और चिपकू होने में क्या है बड़ा फर्क। आइए जानते हैं आखिर चिपकू गर्लफ्रेंड में होते हैं कौन से लक्षण, जिनसे दूर भगाते हैं लड़के। 

ये होते हैं चिपकू गर्लफ्रेंड के लक्षण-
घंटो बात करने की चाहत-
हो सकता है कि आपको हर रात बेड पर आराम से लेटकर उनसे घंटो फोन पर बात करना अच्छा लगता हो और आपका पार्टनर भी रिश्ते की शुरुआत में इसे पसंद करता रहा हो। लेकिन अब ऐसा न हो पा रहा हो तो इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि अब वो आपको प्यार नहीं करते हैं। जब पार्टनर आपको यह संकेत दे रहा है कि वो फोन पर कम बात करना चाहता है तो उस पर बात करने के लिए जोर डालने की जगह कुछ दिनों तक आप भी उसे कम फोन करें। इससे वे आपको और आपके फोन को मिस करेंगे।

हमेशा पार्टनर पर न रहें निर्भर-
अपने दोस्तो के साथ बाहर जाएं। बाहर घूमने व मस्ती करने के लिए हमेशा पार्टनर का इंतजार ना करें। ऐसी लड़कियां भले ही प्यार की वजह से ऐसा करती हैं लेकिन अनजाने में चिपकू गर्लफ्रेंड का तमगा ले बैठती हैं। खुद की इज्जत करें और उनके फोन व इशारों पर निर्भर ना रहें। 

रिश्तों में जरूरी है स्पेस-
लड़कों को अपनी आजादी या कहें निजता बहुत प्यारी होती हैं, उन्हें अपने लिए समय की जरूरत होती हैं। अक्सर लड़कियों को यह शिकायत होती है कि लड़के अपने दोस्तों  को ज्यादा तरजीह देते हैं। लेकिन, आपको यह समझने की जरूरत है कि दोस्त भी जिंदगी का अहम हिस्सा होते हैं। अगर आप बार-बार अपने पार्टनर को दोस्तों से दूर रहने के लिए कहेंगी तो इसका असर आपके रिश्ते पर भी पड़ सकता है। 

असुरक्षा की भावना-
अगर आप भी अपने पार्टनर के किसी लड़की से मिलने पर असुरक्षित महसूस करती हैं या आपको डर लगता है कि ऐसा करने से वो आपको छोड़ देगा? तो आपका ऐसा सोचना गलत है। जरूरी नहीं आप किसी से बात नहीं करते तो वो भी ऐसा ही करें। अपने दोस्तों के साथ बाहर जाएं, लोगों से मिले जुलें और अन्य लड़कों से बात करें। उसके बाद आपको पता चलेगा कि सिर्फ बात करने का मतलब यह नहीं है कि आपको उससे प्यार हो गया है। तभी आप अपने ब्वॉयफ्रेंड पर भरोसा कर पाएंगी।

शक करने की आदत-
लड़के शकी मिजाज की लड़कियों को बिल्कुल पसंद नहीं करते हैं। अगर आप अपने पार्टनर के फीमेल दोस्तों के बारे में हर समय सोचकर उस पर शक करती रहेंगी तो आप अपना रिश्ता खुद कमजोर बना रही हैं। सिर्फ इसलिए कि वह देर रात तक अपनी दोस्त के साथ बाहर है या काम कर रहा है इसका मतलब यह नहीं है कि उनके बीच कुछ चल रहा है। कोई भी व्यक्ति अपने रिश्ते में दूसरे व्यक्ति को तभी धोखा देता है, जब वह हकीकत में ऐसा करना चाहता है। ऐसे में अगर आपका पार्टनर आपको धोखा देना ही चाहता होगा तो वो आपसे छिपकर भी ऐसा कर सकता है। अपने पार्टनर पर  बार-बार शक करके उसे खुद से दूर न करें।

epaper