DA Image
17 अक्तूबर, 2020|9:55|IST

अगली स्टोरी

जानें कहां तलाक रोकने के लिए डाइपर बदलना सीख रहे पुरुष

diaper

जापान में हर तीन में से एक शादी का अंजाम तलाक होता है। पुरुषों का बच्चों की परवरिश की कला में कच्चा होना इसकी मुख्य वजह है। ऐसे में जापान सरकार ने साल 2016 में ‘प्रोजेक्ट इक्युमेन’ की शुरुआत की थी, जिसमें पुरुषों को डाइपर बदलने से लेकर बच्चे को नहलाने, तैयार करने और खाना खिलाने का हुनर सिखाया जाता है। कोरोनाकाल में इक्युमेन कक्षाओं में पुरुषों की भागीदारी में रिकॉर्ड इजाफा हुआ है।

एक नजर 'प्रोटेक्ट इक्युमेन' पर-
-‘इक्युमेन’ शब्द ‘इक्युजी’ और ‘इकेमेन’ शब्दों से मिलकर बना है। ‘इक्युजी’ का मतलब ‘बच्चों की परवरिश’ और ‘इकेमेन’ का अर्थ ‘पारंगत पुरुष’ होता है। ‘इक्युमेन प्रोजेक्ट’ के तहत पुरुषों को एक महीने में बच्चों की परवरिश से जुड़ी हर विधा में माहिर बनाना है। साथ ही यह भी बताना है कि पत्नी से ऐसी कौन-सी बातें नहीं कहनी चाहिए, जिससे उसका पारा चढ़ने और रिश्तों में तल्खी पनपने का खतरा बढ़ जाता है।

शादीशुदा जीवन में क्या करें, क्या न करें-
-‘टोक्यो टाइम्स’ के मुताबिक ‘इक्युमेन’ कोर्स में पुरुषों को सबसे पहले ‘परफेक्ट पति’ बनने के उपाय सुझाए जाते हैं। उन्हें बताया जाता है कि पत्नी से कभी ‘तुम क्या करती हो?’, ‘एक बच्चा भी नहीं संभाल सकती?’, ‘घरेलू कामों में कितनी मेहनत ही लगती है?’ जैसे सवाल कभी नहीं करने चाहिए। इसके बाद पुरुषों से गुड्डे-गुड़ियों के डाइपर बदलवाए जाते हैं। उन्हें नहलाकर सजाने-संवारने और खाना खिलाने के टिप्स बताए जाते हैं।

गर्भावस्था का एहसास कराया जाता है-
-‘इक्युमेन प्रोजेक्ट’ के तहत पुरुषों को ‘बेबी बंप’ से लैस सात किलोग्राम वजन वाला एक प्रेग्नेंसी सूट भी पहनाया जाता है, ताकि वे गर्भावस्था में महिलाओं की ओर से झेली जाने वाली चुनौतियों को महसूस कर सकें। सूट पहनकर उनसे गर्भवती महिलाओं की ओर से घर और दफ्तर में किए जाने वाले सभी काम कराए जाते हैं, जिससे वे समझ सकें कि शिशु को नौ महीने तक अपनी कोख में पालना कितना मुश्किल है। इस प्रक्रिया में जीवनसाथी साथ न दे तो कितनी खीज मचती है।

कुंआरे भी दिखा रहे दिलचस्पी-
-‘इक्युमेन कोर्स’ में सिर्फ शादीशुदा ही नहीं, बल्कि कुंआरे पुरुष भी खासी दिलचस्पी दिखा रहे हैं। कोरोनाकाल में सपनों की राजकुमारी का दिल जीतने की संभावना बढ़ाना इसकी मुख्य वजह है। संचालकों के मुताबिक कोविड-19 संक्रमण में ‘वर्क फ्रॉम होम’ की मजबूरी ने महिलाओं को ऐसे पार्टनर की तलाश के लिए प्रेरित किया है, जो रंग-रूप में भले ही उन्नीस रहे, लेकिन घरेलू जिम्मेदारियों को मिलकर निभाने की सोच रखता हो। ‘इक्युमेन कोर्स’ पुरुषों को इसी भूमिका के लिए तैयार करता है।

इनकी लोकप्रियता भी बढ़ी-
1.एवरीडे पेरेंटिंग-

-अमेरिका में येल स्कूल ऑफ पेरेंटिंग की ओर से चलाए जाने वाले इस कोर्स में पुरुषों को बच्चों में बढ़ते गुस्से, चिड़चिड़ेपन और आक्रामकता से निपटने की कला सिखाई जाती है। उन्हें बताया जाता है कि घर के माहौल में कैसे शांति, प्यार और अपनेपन का एहसास घोलना कैसे संभव है।

2.पेरेंट्स फॉरेवर-
-मिनेसोटा यूनिवर्सिटी की ओर से संचालित यह कोर्स उन जोड़ों के लिए है, जो अलगाव की राह पर आगे बढ़ चुके हैं। आठ घंटे के इस कोर्स में माता-पिता को सिखाया जाता है कि तलाक के बाद वे आपसी मतभेद को नजरअंदाज कर कैसे बच्चे को नेक परवरिश प्रदान कर सकते हैं।

3.द साइंस ऑफ पेरेंटिंग-
-सैन डिएगो स्थित कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में संचालित यह कोर्स पांच महीने तक चलता है। इसमें अभिभावकों को वैज्ञानिक शोध पर आधारित उन फीचर के इस्तेमाल में पारंगत बनाया जाता है, जो बच्चों के लिए स्क्रीन टाइम, नींद, खानपान के निर्धारण के अलावा घर में पढ़ाने का तरीका सुझाते हैं।

4.पावर ऑफ पॉजिटिव पेरेंटिंग-
-यह कोर्स उन अभिभावकों के लिए है, जो सजा दिए या गुस्सा और आक्रामकता दिखाए बिना ही बच्चों की परवरिश करना चाहते हैं। इसका संचालन ऊताह स्टेट यूनिवर्सिटी के मनोवैज्ञानिक करते हैं। वे अभ्यर्थियों को बताते हैं कि कैसे आधुनिक युग में बच्चों का दोस्त बनकर रहने में समझदारी है।

अजब-गजब-
-कोरोनाकाल में ‘इक्युमेन कोर्स’ करने वाले जापानी युवकों की संख्या बढ़ी
-बच्चों को नहलाने, सजाने-संवारने, खाना खिलाने की कला में पारंगत हो रहे
-सात किलो का प्रेग्नेंसी सूट पहनाकर गर्भावस्था की मुश्किलें भी समझाई जाती हैं

आकर्षण का केंद्र-
-03 गुना ज्यादा आकर्षित होती हैं महिलाएं बच्चों के प्रति प्यार जाहिर करने वाले पुरुषों की तरफ
-40% युवतियों ने उन युवकों से फोन नंबर साझा किया, जो जापानी शोध में बच्चे से खेलते दिखे
-12% के करीब थी बच्चों को नजरअंदाज करने वाले पुरुषों को नंबर देने वाली महिलाओं की संख्या
-60% ज्यादा जिम्मेदार और भरोसेमंद मानती हैं महिलाएं ऐसे पुरुषों को, जो बच्चों से खेलते-कूदते हैं

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:relationship advice: Know why Japanese men are learning to change diapers to save their marriages