Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइलकोरोना के हर स्वरूप के लिए टीका बनाने की तैयारी तेज

कोरोना के हर स्वरूप के लिए टीका बनाने की तैयारी तेज

मदन जैड़ा,नई दिल्लीPratima Jaiswal
Thu, 02 Dec 2021 08:23 AM
कोरोना के हर स्वरूप के लिए टीका बनाने की तैयारी तेज

इस खबर को सुनें

कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप की दस्तक के बीच दवा कंपनियां हर वेरिएंट के लिए अलग-अलग टीका निर्माण पर ध्यान केंद्रित करने लगी हैं। दुनिया की तीन मशहूर कंपनियां फाइजर, मॉडर्ना तथा एस्ट्रेजेनिका इस पर काम शुरू कर चुकी हैं। बीटा व डेल्टा के टीके परीक्षण चरण में पहुंचने को हैं। नेचर में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि आने वाले समय में कुछ वेरिएंट केंद्रित टीके बाजार में आ सकते हैं।

दावे खरे नहीं
कंपनियां हर टीके के हर वेरिएंट पर प्रभावी होने की बात कहती है पर ऐसा हो नहीं रहा है। सिंगापुर में 75 तो भारत में 27 लोगों में दोबारा संक्रमण की पुष्टि हुई। ऐसा नए वेरिएंट की वजह से हुआ है। रॉकफिलर विश्वविद्यालय के वायरोलॉजिस्ट पॉल बेनसेइंज ने कहा, वेरिएंट केंद्रित टीका प्रभावी भी साबित होंगे पर चुनौती इस बात का पता लगाने की होगी कि कब वायरस में किस प्रकार का बदलाव आएगा। उन्होंने कहा कि बदलाव के हिसाब से टीकों को भी अपग्रेड करना होगा।

जरूरत क्यों
नेचर की रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक जितने भी टीके आए हैं, वे वुहान में शुरू में मिले स्वरूप पर केंद्रित हैं। ये टीके सभी स्वरूपों पर कुछ न कुछ प्रतिरोधकता दिखाएंगे। लेकिन डेल्टा, बीटा, ओमीक्रोन जैसे खतरनाक एवं संक्रामक स्वरूप से निपटने के लिए वेरिएंट केंद्रीय टीके बनाने होंगे।

संकट क्यों
फाइजर, मॉडर्ना, एस्ट्राजेनिका डेल्टा केंद्रित टीके तैयार कर रही हैं। येल यूनिवर्सिटी की इम्यूनोलॉजिस्ट प्रोफेसर अकिको इवासाकी के अनुसार, वेरिएंट केंद्रित टीके इस खतरे को न्यूनतम कर सकते हैं क्योंकि जो नए वरिएंट आ रहे हैं, उनमें मौजूदा टीकों से बचने की क्षमता है। इसकी वजह उनके प्रोटीन में ज्यादा म्यूटेशन आना है।

epaper

संबंधित खबरें