DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  डिलीवरी के बाद किन फूड्स को खाने से बढ़ता है वजन? जानें क्या खाएं और क्या नहीं  

जीवन शैलीडिलीवरी के बाद किन फूड्स को खाने से बढ़ता है वजन? जानें क्या खाएं और क्या नहीं  

लाइव हिन्दुस्तान टीम ,नई दिल्ली Published By: Pratima Jaiswal
Wed, 05 May 2021 10:05 AM
डिलीवरी के बाद किन फूड्स को खाने से बढ़ता है वजन? जानें क्या खाएं और क्या नहीं  

प्रेगनेंसी में वजन बढ़ना आम बात हैं। वहीं, डिलीवरी के बाद भी खान-पान के कारण मां का वजन भी काफी बढ़ जाता है। वक्त के साथ अगर एक्सरसाइज और डाइट से वेट कंट्रोल न किया जाए, तो वजन बढ़ता ही जाता है। खासतौर पर डिलीवरी के बाद कुछ ऐसी चीजें खाने से परहेज करना चाहिए, जिनसे वजन बढ़ता है। आज हम आपको डिलीवरी स्पेशल डाइट बता रहे हैं। 
 

ये चीजें खाएं 
फल
अपनी डिलीवरी के बाद की डाइट में ताजे फलों की एक प्लेट शामिल करना आपके और बच्चे की सेहत के लिए बहुत अच्छा है। शरीर में एनर्जी लेवल बढ़ाने के लिए विटामिन, खनिज और कार्बोहाइड्रेट जैसे आवश्यक पोषक तत्व बढ़ जाते हैं।

 

सब्जियां
सिर्फ हरी पत्तेदार सब्जियां ही नहीं, सफेद, नारंगी और कई अन्य सब्जियां आपके और आपके बच्चे के लिए फायदेमंद हैं। सब्जियों में मौजूद विटामिन, कैल्शियम और आयरन जैसे पोषक तत्व आपके स्वास्थ्य में बहुत कुछ शामिल कर सकते हैं।

 

घी
डिलीवरी के बाद रिकवरी भी नई मां बनने का एक हिस्सा है। घी आपके स्वास्थ्य को ठीक करने और वापस सामान्य होने में बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। अगर आप सही मात्रा में घी का सेवन करते हैं, तो यह मांसपेशियों को मजबूत करने और मरम्मत करने में मदद कर सकता है। गोंद लड्डू और पंजिरी में भी घी का उपयोग किया जाता है, जो मां और बच्चे के लिए बहुत अच्छा होता है।

 

दलिया
गर्भावस्था के हार्मोन के कारण, महिलाओं में कब्ज एक बहुत ही सामान्य दुष्प्रभाव है। वास्तव में, प्रसव के बाद भी कुछ कमजोरी हो सकती है। समस्याओं को दूर करने के लिए फाइबर का सेवन करना महत्वपूर्ण है। तो, दलिया शरीर में फाइबर बढ़ा सकता है और आपके स्वास्थ्य को बेहतर बना सकता है।


खजूर
खजूर का सेवन नेचुरल शुगर का सेवन करने का एक तरीका है। चीनी आपके शरीर में ऊर्जा प्राप्त करने में मदद करती है। आप रोजाना लगभग 4-5 खजूर खा सकते हैं।

 

इन चीजों का सेवन न करें
कॉफी
कॉफी और चाय में कैफीन अधिक मात्रा में होता है। यह आपके शिशु के लिए अच्छा नहीं है। यह आपके और बच्चे के लिए नींद के लिए भी ठीक नहीं है इसलिए जितना हो सके, डिलीवरी के बाद कॉफी से बचना चाहिए।

 

मछली
मछली प्रोटीन और ओमेगा-3 फैटी एसिड का एक समृद्ध स्रोत हैं। हालांकि, स्तनपान के दौरान कम मात्रा में इसका सेवन करना चाहिए। कुछ प्रकार की मछलियों में हाई लेवल का पारा होता है जो आपके बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है।

 

ऑयली फूड्स
पकौड़े और पुरी जैसे तैलीय फूड्स गैस्ट्रिक समस्याओं का कारण बन सकते हैं। ऑयली और गैस फूड से बचना चाहिए क्योंकि ये आपके शरीर के लिए बहुत भारी होते हैं। वास्तव में, इनमें हाई कैलोरी होती है और यह तेजी से वजन बढ़ा सकता है।

 

Disclaimer- इस आलेख में दी गई जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है। हालांकि, हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। यह लेख केवल आपकी जानकारी बढ़ाने के उद्देश्य से लिखा गया है।

 

यह भी पढ़ें : जिंदगी खट्टी मीठी है, तो आज आपको हम बताने वाले हैं खट्टी कैरी के सेहत लाभ

 

संबंधित खबरें