DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  देर से बोलना क्यों शुरू करते हैं कुछ बच्चे? ये टिप्स करेंगे आपकी मदद 
लाइफस्टाइल

देर से बोलना क्यों शुरू करते हैं कुछ बच्चे? ये टिप्स करेंगे आपकी मदद 

लाइव हिन्दुस्तान टीम ,नई दिल्ली Published By: Pratima Jaiswal
Sat, 19 Jun 2021 11:13 AM
देर से बोलना क्यों शुरू करते हैं कुछ बच्चे? ये टिप्स करेंगे आपकी मदद 

हर माता-पिता का सपना होता है कि उनका बचपन सबसे पहले उन्हें मां-पापा कहकर पुकारे लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि कुछ बच्चे अपनी उम्र में आकर भी बोलना शुरू नहीं करते। ऐसे में उनके माता-पिता को चिंता होने लगती है कि उनका बच्चा आखिर बोल क्यों नहीं पाता और उनके मन में कई सवाल भी आते हैं। 

 

क्यों देर से बोलते हैं बच्चे 
जो बच्चे जन्म के बाद देर से रोना आरंभ करते हैं, वे बोलना भी देर से आरंभ करते है अर्थात जो शिशु जन्म के समय खुलकर न रोए या उसे रुलाने के लिए कोई उपचार करना पड़े, तो ऐसे बच्चे अक्सर देर से बोलना सीखते हैं। इसके अतिरिक्त गर्भावस्था के समय मां के जॉन्डिस से ग्रस्त होने अथवा नॉर्मल डिलीवरी के समय बच्चे के मस्तिष्क की बांई ओर चोट लग जाने की वजह से भी बच्चे की सुनने की शक्ति क्षीण हो जाती है। सुनने तथा बोलने का गहरा संबंध है। जो बच्चा ठीक से सुन नहीं पाता वह बोलना भी आरंभ नहीं करता। लगभग छह महीने का बच्चा 17 प्रकार की विभिन्न ध्वनियों को पहचानने की क्षमता रखता है और यही ध्वनियां आगे चलकर विभिन्न भाषाओं का आधार बनती है।

 

ये उपाय करेंगे मदद 
आपके बच्चे द्वारा बनाई जा रही आवाज को आप दोहरा सकते हैं। एक दूसरे की नकल करने का यह खेल आपके बच्चे को बोलने के लिए प्रोत्साहित करेगा। जब वह आपको कॉपी करना शुरू करता है, तो आप उसे नए शब्दों को सिखाने के लिए उपयोग कर सकते हैं। यह आपके बच्चे को तेजी से बात करने में मदद करेगा। अगर आपका बच्चा थोड़ी बहुत बात करने लगा है, तो उसके लिए उस वाक्य को पूरा करें। वह थोड़ा बोलेगा और आप उसके साथ पूरा बोलेंगे। इस तरह से आपका बच्चा धीरे-धीरे बोलना सीख जाएगा। इसके अलावा म्यूजिक आपके बच्चे के दिमाग की कोशिकाओं को उत्तेजित करती है। बच्चे अक्सर गाना सुनकर सिर हिलाते हैं। ऐसे में आप बच्चे के लिए कोई भी गाना गुनगुना सकते हैं। 

 

यह भी पढ़ें : आपकी सेक्‍स लाइफ को बर्बाद कर सकता है मोटापा, जानिए क्‍या कहता है अध्‍ययन


 

संबंधित खबरें