फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइलअगली महामारी कोरोना से ज्यादा जानलेवा होगी, एस्ट्राजेनेका टीका बनाने वाली प्रोफेसर का दावा

अगली महामारी कोरोना से ज्यादा जानलेवा होगी, एस्ट्राजेनेका टीका बनाने वाली प्रोफेसर का दावा

अगली महामारी कोरोना से भी ज्यादा संक्रामक और जानलेवा होगी। ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन बनाने वाली प्रोफेसर डेम सारा गिलबर्ट ने दुनिया को आगाह करते हुए यह दावा किया है। डेम सारा ने कहा कि यह...

अगली महामारी कोरोना से ज्यादा जानलेवा होगी, एस्ट्राजेनेका टीका बनाने वाली प्रोफेसर का दावा
Manju Mamgainहिन्दुस्तान ब्यूरो,नई दिल्लीTue, 07 Dec 2021 11:28 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

अगली महामारी कोरोना से भी ज्यादा संक्रामक और जानलेवा होगी। ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन बनाने वाली प्रोफेसर डेम सारा गिलबर्ट ने दुनिया को आगाह करते हुए यह दावा किया है।
डेम सारा ने कहा कि यह आखिरी बार नहीं हो रहा है जब किसी वायरस से हमारे जीवन और हमारी आजीविका को खतरा पैदा हुआ है। सच तो यह है, कि अगली महामारी और भी बदतर हो सकती है। यह अधिक संक्रामक और अधिक घातक दोनों हो सकती है। उन्होंने कहा कि महामारी की तैयारियों के लिए और अधिक फंड की जरूरत है ताकि इनके प्रकोप को रोका जा सके।
उन्होंने कहा कि हम ऐसी परिस्थिति में दोबारा नहीं हो सकते जहां हम एक बार फिर वो सब देखें जो हमने इस बार देखा है। लेकिन कोरोना से हुए भारी आर्थिक नुकसान के कारण महामारी से निपटने की तैयारियों लिए हमारे पास फंड नहीं है। उन्होंने कहा कि हमने इससे जो सीखा है और हमारा जो अनुभव रहा है वह व्यर्थ नहीं जाना चाहिए।

ओमीक्रोन पर वैक्सीन का प्रभाव कम हो सकता है
डेम सारा ने चेताया कि कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमीक्रोन पर वैक्सीन का प्रभाव कम हो सकता है। जब तक इस नए वेरिएंट को लेकर और भी जानकारी सामने ना आ जाए तब तक लोगों को भी सावधान रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इसके स्पाइक प्रोटीन में म्यूटेशन है जो वायरस के संक्रमण को बढ़ाने का काम करता है। ये वेरिएंट थोड़ा अलग है जिससे हो सकता है कि वैक्सीन से बनने वाली एंटीबॉडी, या दूसरे वेरिएंट के संक्रमण से बनने वाली एंटीबॉडी ओमीक्रोन के संक्रमण को रोकने में कम प्रभावी हो। उन्होंने यह भी कहा की वैक्सीन के प्रभाव के कम होने की संभावना का मतलब ये नहीं है कि संक्रमण बेहद गंभीर या मौत का कारण बन सकता है।

इन्फ्लूएंजा के लिए भी एक यूनिवर्सल टीका बने
डेम सारा ने कोरोना महामारी के दौरान टीकों के निर्माण और दवाओं के वितरण में आई तेजी को अन्य बीमारियों के लिए भी लागू करने की मांग की। उन्होंने कहा कि अन्य बीमारियों जैसे इन्फ्लूएंजा के लिए भी एक यूनिवर्सल टीका बनाना चाहिए। 

डेमहुड से सम्मानित
डेम सारा गिलबर्ट को इस साल महारानी के जन्मदिन के मौके पर डेमहुड से सम्मानित किया गया था। पहली बार चीन में कोरोना वायरस के सामने आने के बाद साल 2020 की शुरुआत में उन्होंने इस वायरस की वैक्सीन बनाना शुरू किया था। वो ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन बनाने वालों में से एक हैं। ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन दुनिया भर में सबसे व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली वैक्सीन है, 170 से अधिक देशों में ये वैक्सीन लगाई जा रही है। भारत में एस्ट्राजेनेका को कोविशील्ड नाम से जाना जाता है।

यह भी पढ़ें - ओमिक्रॉन की दिल्ली में एंट्री, पूरी तरह वैक्सिनेटेड है संक्रमित व्यक्ति

epaper