DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Navratri 2019: डायबीटीज, किडनी, लीवर के मरीज न रखें व्रत, पढ़ें ये बातें

ऐसे डायबिटीज रोगी जो नियमित इंसुलिन ले रहे हैं वह व्रत नहीं रखें। लिवर, किडनी के मरीज और हार्ट की सर्जरी कराने वाले भी व्रत नहीं रखें। इससे उनकी तबियत खराब हो सकती है। विशेषज्ञों का कहना है कि डायबिटीज रोगी जो दवाएं ले रहे हैं वे अपने डॉक्टर से दवाएं सेट करा लें। व्रत में जो भी डाइट उसी हिसाब से लें जैसा डॉक्टर बताएं।

डायबिटीज रोग विशेषज्ञ डॉ. बृज मोहन के मुताबिक व्रत में लोग खान-पान में संतुलन नहीं बैठा पाते हैं। हाइपोग्लीसीमिया और हाइपरग्ली सिमिया दोनों का खतरा रहता है। इंसुलिन लेने वाले तो बिल्कुल व्रत नहीं रखे। साथ किडनी और लिवर प्रोफाइल जांचें करा लें। अगर कोई गड़बड़ी है तो व्रत बिल्कुल न रखें। 

फिजिशियन डॉ.विशाल गुप्ता का कहना है कि गर्भवती महिलाओं को सतर्क रखकर व्रत रखना होगा। खान-पान में असंतुलन नहीं होने पाए। बुजुर्ग लोग और ऐसे मरीज जो टीबी की नियमित दवाएं ले रहे हैं वह भी व्रत नहीं रखें तो बेहतर रहेगा। लम्बे समय बीमार लोग जो बेड पर हैं वे भी उपवास नहीं रखें।

डॉ.विशाल गुप्ता का कहना है कि व्रत से फायदे हैं। इससे शारीरिक मेटाबॉलिज्म ठीक होती है। एसिडिटी से राहत मिलती है। शरीर हल्का रहता है। शर्त है अधिक तली भुनी चीजों का अधिक प्रयोग नहीं करें। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Navratri 2019: Diabetes Kidney Liver Patients do not keep navratri vrat Read These Things