DA Image
20 जनवरी, 2020|8:17|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैलोरी में कटौती किए बगैर भी सेहतमंद बने रह सकते हैं आप, जानें कैसे

cheat diet

आप खाने में मौजूद कैलोरी में कटौती किए बगैर भी स्वस्थ रह सकते हैं। बस आपको सही समय पर खाना खाने और प्रशंस्कृत कार्बोहाइड्रेट से परहेज करने की जरूरत है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने शनिवार को ‘हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट’ के ‘पोषण एवं डाइट : क्या काम करता है और क्या नहीं’ सत्र में लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारियों से बचाव में आहार की अहमियत पर चर्चा के दौरान यह बात कही।

सॉल्क इंस्टीट्यूट में प्रोफेसर डॉक्टर सचिन पांडा ने कहा, ‘यह जानना जरूरी है कि शरीर को किस चीज की जरूरत है और हम उसे वह चीज कैसे उपलब्ध करा सकते हैं। हमने अपने अध्ययनों में देखा है कि दस घंटे के अंतराल में दिनभर के लिए निर्धारित पूरी डाइट लेने और बाकी समय खाली पेट रहने से टाइप-2 डायबिटीज व हृदयरोग सहित अन्य जानलेवा बीमारियों को दूर रखने में मदद मिलती है।’

पांडा ने कहा, ‘मस्तिष्क की तरह शरीर के हर अंग की अपनी जैविक घड़ी होती है, जिसे कुछ देर आराम की जरूरत पड़ती है। आराम की यह घड़ी ‘फास्टिंग पीरियड’ में आती है, यानी जब हम खाने से दूरी बना लेते हैं।

लैब में चूहों पर अध्ययन के दौरान हम दस घंटे की ‘डाइट विंडो’ अपनाकर उन्हें डायबिटीज मुक्त करने में कामयाब रहे। मनुष्य पर शोध के दौरान भी समान नतीजे देखने को मिले। 12 हफ्ते में ही प्रतिभागियों का ब्लड शुगर काबू में आ गया।’

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में आहार विशेषज्ञ डॉक्टर डेविड लुडविग ने प्रशंस्कृत कार्बोहाइड्रेट को सेहत का सबसे बड़ा दुश्मन करार दिया। उन्होंने खाने की मात्रा से ज्यादा उसकी गु‌‌णवत्ता पर ध्यान देने की अपील की। बकौल लुडविग, ‘भारत में टाइप-2 डायबिटीज तेजी से महामारी का रूप लेता जा रहा है। इसकी रोकथाम के लिए प्रशंस्कृत कार्बोहाइड्रेट से दूरी बनाना और प्रोटीन-फाइबर युक्त आहार का सेवन बढ़ाना बेहद जरूरी है। दरअसल, प्रशंस्कृत कार्बोहाइड्रेट चयापचय क्रिया को धीमा कर डायबिटीज, उच्च रक्तचाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल सहित अन्य समस्याओं को जन्म देता है।’

एक नजर प्रशंस्कृत कार्बोहाइड्रेट पर
-प्रशंस्कृत कार्बोहाइड्रेट में शक्कर के अलावा रिफाइन्ड अनाज शामिल हैं, जिन्हें फाइबर, छिल्के और पोषक तत्वों से वंचित किया जा चुका है। ब्रेड, पिज्जा ब्रेड, पास्ता, चावल, नूडल्स, मिठाई आदि की गिनती प्रशंस्कृत कार्बोहाइड्रेट में होती है।

नोट-
-‘फास्टिंग पीरियड’ में पानी और दवाओं के अलावा कुछ भी खाना-पीना नहीं चाहिए। जैसे आप चलते ट्रैफिक में किसी हाईवे की मरम्मत नहीं कर सकते, ठीक उसी तरह आप आंत को भी तब तक साफ नहीं कर सकते, जब तक उसमें खाना पहुंचता रहेगा। : डॉक्टर सचिन पांडा, प्रोफेसर, सॉल्क इंस्टीट्यूट
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Know how without cutting calories a person can lead a healthy life