Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइलउल्टी या लूज मोशन से रिकवरी के बाद भी सप्ताह में दो बार जरूर खाएं खिचड़ी, जानें फायदे

उल्टी या लूज मोशन से रिकवरी के बाद भी सप्ताह में दो बार जरूर खाएं खिचड़ी, जानें फायदे

लाइव हिन्दुस्तान टीम ,नई दिल्ली Pratima Jaiswal
Sun, 05 Dec 2021 12:25 PM
उल्टी या लूज मोशन से रिकवरी के बाद भी सप्ताह में दो बार जरूर खाएं खिचड़ी, जानें फायदे

इस खबर को सुनें

सर्दियों का मौसम खाने-पीने के लिहाज से सबसे अच्छा माना जाता है लेकिन इस सीजन के साथ कई चुनौतियां और हेल्थ इश्यू भी साथ होते हैं। जैसे, कभी-कभी बहुत सावधानी रखने के बाद भी ठंड लग जाती है, जिससे उल्टी और लूज मोशन जैसी प्रॉब्लम्स शुरू हो जाती हैं। वहीं, अक्सर स्नैक्स या तला-भुना ज्यादा खाने से डाइजेशन भी खराब हो जाता है। ऐसे में आपको डाइट में खिचड़ी जरूर शामिल करनी चाहिए। खिचड़ी खाने से न सिर्फ डाइजेशन ठीक रहता है बल्कि इससे वेट कंट्रोल भी किया जा सकता है। इसके अलावा भी सप्ताह में एक या दो बार खिचड़ी खाने के कई फायदे हैं। 

एसिडिटी से राहत 
अक्सर कब्ज या एसिडिटी होने पर खिचड़ी खाना फायदेमंद होता है और आरामदायक भी। इसे खाने के बाद पेट में भारीपन भी नहीं लगता और पेट भी पूरी तरह भर जाता है। 


डाइजेशन को ठीक करने के लिए 
उल्टी और लूज मोशन होने पर डाइजेशन कमजोर हो जाता है, इसलिए ठीक होने के बाद सप्ताह में दो बार खिचड़ी जरूर खाएं। इससे पेट भी ठीक रहता है और शरीर में पोषक तत्वों की कमी भी नहीं होती। 


इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग होती है
दाल, चावल, सब्जियों और मसालों से तैयार की गई खिचड़ी काफी स्वादिष्ट और पोषण से भरपूर होती है, जो शरीर को ऊर्जा और पोषण देती है। इसके माध्यम से एक साथ सभी पोषक तत्व प्राप्त किए जा सकते हैं। इसे दही और देसी घी के साथ खाने से इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग होती है। 


बॉडी डिटॉक्स भी करती है खिचड़ी 
कफ, फीवर, कमजोरी होने पर खिचड़ी खाने से शरीर को जरूरी पोषक तत्वों की प्राप्ति होती है और बॉडी जल्दी हील कर पाती है। खिचड़ी बॉडी को डिटॉक्स करने का काम भी करती है।


वेट लॉस के लिए खाएं
आपका वजन तेजी से बढ़ रहा है या फिर पेट के आसपास चर्बी जमा हो रही है, तो दिन में एक बार खिचड़ी जरूर खाएं। इससे आपका वजन कंट्रोल रहने के साथ पेट की चर्बी भी घट जाएगी। वेट लॉस के लिए खिचड़ी में घी या मसालों का इस्तेमाल कम से कम करें।

यह भी पढ़े :  डायबिटीज के मरीजों के लिए जरूरी है वेट मैनेजमेंट, यहां है आपके लिए सही डाइट प्लान

epaper

संबंधित खबरें