DA Image
30 जून, 2020|4:10|IST

अगली स्टोरी

कोरोना से बचाव के लिए पहनते हैं मास्क , ध्यान रखें ये बातें सेहत के साथ त्वचा भी रहेगी सेहतमंद

mask

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए पहला सुरक्षा कवच है फेस मास्क। पर, लगातार कई घंटे तक पहनने से यह त्वचा पर भी असर डाल सकता है। मास्क के दुष्प्रभाव से त्वचा को कैसे बचाएं , बता रही हैं रजनी अरोड़ा। 

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए चेहरे पर मास्क पहनना जरूरी हो गया है। वैज्ञानिकों की मानें तो इनमें एन-95 मास्क सबसे अच्छा है। हालांकि मास्क जैसा भी हो, रोजाना लंबे समय के लिए मास्क पहनना इतना आसान भी नहीं है। संवेदनशील त्वचा होने के कारण खासकर महिलाओं को मास्क के इस्तेमाल से त्वचा संबधी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। मास्क पहनने से चेहरे की त्वचा पर हवा नहीं लग पाती और मुंह न धो पाने की वजह से वहां ज्यादा पसीना आता है, जिससे उसमें बैक्टीरिया पनपने लगते हैं और इंफेक्शन हो जाता है।

चेहरे पर पित्ती या छोटे-छोटे दाने निकल आते हैं, जिसमें असहनीय जलन-खुजली रहती है। इनसे रूखी त्वचा वालों को भी परेशानी होती है। टाइट-फिटिंग के मास्क में मेटेलिक नोज-क्लिप बैंड और कान के पीछे जाने वाली इलास्टिक से भी समस्या हो जाती है। लंबे समय तक एन-95 मास्क पहनने से पिग्मेंटेशन की समस्या भी हो जाती है।

नमी जरूरी है: 
मास्क पहनने से पहले चेहरे पर अच्छी क्वालिटी का और कम चिपचिपा मॉइस्चराइजर जरूर लगाएं। यह आपकी त्वचा को हाइड्रेट रखता है, साथ ही त्वचा और मास्क के रेशों के बीच सुरक्षात्मक अवरोधक का काम भी करता है, जिससे त्वचा में एलर्जी होने की आशंका कम हो जाती है।

आरामदायक मास्क लें : 
मास्क टाइट है तो थोड़ा-सा बड़े साइज का मास्क लें या फिर उसकी स्ट्रिंग के आखिर में रबरबैंड या साफ और पतला धागा बांध कर उसे हल्का-सा लंबा कर लें। ध्यान रहे कि मास्क बहुत ज्यादा ढीला न करें, इससे इसकी उपयोगिता कम हो जाएगी। कान के पीछे रुई का पैड लगाकर मास्क पहनें। इससे कानों के पीछे घाव, दर्द या जलन से बचा जा सकता है।

मेकअप कम ही रखें : 
मास्क पहनने वाली महिलाओं को ऑयल बेस्ड मेकअप नहीं करना चाहिए। इससे त्वचा में पसीना ज्यादा आता है और त्वचा संबंधी समस्याएं हो सकती है। जरूरत न हो, तो मेकअप न करें या फिर मिनरल बेस्ड ड्राई मेकअप जैसे कॉम्पैक्ट पाउडर ज्यादा ठीक रहेगा।

मास्क उतारने के बाद : 
मास्क उतारने के बाद फेसवॉश या क्लींजर से चेहरे को अच्छी तरह साफ करें। उसके बाद माइल्ड मॉइश्चराइजर लगाना चाहिए। हाथ साबुन से अच्छी तरह धोकर और सेनिटाइज करके ही मास्क उतारें। मास्क को गंदे हाथ से न छुएं। मास्क उतारकर किसी साफ जगह पर रखें। चेहरा धोकर मॉइश्चराइजर लगाने के बाद ही मास्क दोबारा पहनें।

आजमाएं ये घरेलू उपचार-
-मास्क से ज्यादा तकलीफ हो, तो आइस थेरेपी लें। साफ बड़े रुमाल को बर्फीले पानी में डुबो कर निचोड़ लें और चेहरे को 2-3 मिनट के लिए ढकें। या फिर चेहरे पर रूमाल में लिपटे बर्फ के क्यूब्स 4-5 मिनट तक रखें। इससे त्वचा में होने वाली जलन कम होगी और आराम मिलेगा।
-त्वचा को ठंडक प्रदान करने के लिए एलोवेरा जेल या तरबूज का जूस लगाना फायदेमंद है। कैलामाइन लोशन भी लगा सकती हैं। तकलीफ ज्यादा हो, तो डॉक्टर की सलाह लें।
-मुंहांसे होने पर मुल्तानी मिट्टी या हल्दी-बेसन का पैक लगाने से आराम मिलेगा।
-पिग्मेंटेशन से बचाव के लिए मास्क लगाने से पहले त्वचा पर वैसलीन लगाएं।

(मेडलिंक्स लुक गुड, नई दिल्ली के त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ. गोरांग कृष्णा से बातचीत के आधार पर)

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Keep these thing in mind while purchasing or wearing face mask can give you good health and skin care