DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  लॉकडाउन के दौरान ऐसे रखें बच्चों-बुजुर्गों का ध्यान, काम आएंगे ये टिप्स

जीवन शैलीलॉकडाउन के दौरान ऐसे रखें बच्चों-बुजुर्गों का ध्यान, काम आएंगे ये टिप्स

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Manju
Tue, 31 Mar 2020 03:24 PM
लॉकडाउन के दौरान ऐसे रखें बच्चों-बुजुर्गों का ध्यान, काम आएंगे ये टिप्स

घर पर अगर बुजुर्गों और बच्चों को एक साथ चौबीस घंटे गुजारने पड़ें, तो उनके बीच तालमेल बैठाने की मशक्कत कई बार घर की महिलाओं को ही करनी पड़ती है। दो पीढ़ियों को एक साथ संभालना आसान बात नहीं। आप ऐसे समय में इन टिप्स को आजमा सकती हैं। 
 
1- बच्चों और बुजुर्गों के बीच आपस में अच्छा तालमेल बिठाने के लिए आपको कुछ पहल करनी होंगी। आप किसी एक की तरफदारी ना करते हुए उन दोनों को एक मंच पर साथ लाने का काम करें।
 
2-बच्चे दादा-दादी या नाना-नानी को टेक्नोलॉजी के बारे में समझा सकते हैं और बदले में उन्हें कहानियों का पिटारा तैयार मिलेगा। रोज एक नई कहानी का बच्चों को इंतजार रहने लगेगा।
 
3-रोज शाम ये दोनों पीढ़ियां साथ बैठकर लूडो, कैरम, शतरंज जैसे इंडोर गेम्स भी खेल सकती हैं। इसमें उन्हें मजा आएगा, बूढ़ों को अकेलापन नहीं महसूस होगा और बच्चों को बोरियत भी नहीं होगी।

4-घर के बुजुर्गों को समय पर खाना या दवा देने जैसे छोटे-छोटे कार्य बच्चों या छोटे सदस्यों को सौपें। इससे बड़ों को थोड़ा आराम मिल जाएगा और बच्चों को थोड़ा काम। इससे उनके भीतर जिम्मेदारी का भाव भी पनपेगा। 
 
5-एक एक्टिविटी थोड़ा हटकर भी की जा सकती है। जैसे-कोई भी एक विषय लें और उसमें दोनों पीढ़ियों की राय लें। अभी के समय में कोरोना को लेकर ही जागरूकता को लिया जा सकता है। इस बारे में दोनों को कितनी जानकारी है, ये एक-दूसरे से साझा करें।

संबंधित खबरें