DA Image
14 जुलाई, 2020|6:54|IST

अगली स्टोरी

एप से होगी संक्रमण की जांच! जानेंं कोरोना वायरस से जुड़े सवाल-जवाब

mobile

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है. लोगों के मन में रोज नए-नए सवाल उठ रहे हैं. यहां हम विश्व स्वास्थय संगठन,केंद्रीय स्वास्थय मंत्रालय और विशेषज्ञों दवारा दी जा रही कोरोना से जुड़ी जानकारी आप तक पहुचांएगे- 

अपने पेट्स का ध्यान किस तरह रखें कि वे सुरक्षित रहे? 
अपने पेट्स को दूसरे जानवरों व अजनबी लोगों को न छूने दें। उन्हें घर में ही रखें। घुमाने लेकर जाएं तो भीड़ वाली जगहों पर न जाएं। घर में कोई संक्रमित है तो वह पालतू पशुओं के करीब कम जाए। बाहर से जब पेट्स को लेकर आएं तो उनके पैर व पंजों को धोएं। पेट्स को छूते समय चेहरे को ढक कर रखें। छूने से पहले और बाद में हाथ धोएं।


क्या कोई ऐसा एप है जिससे कोरोना की जांच हो सके?
अभी ऐसा कोई एप नहीं है। वैसे डेली मेल के अनुसार, पिट्सबर्ग में शोधकर्ता फिलहाल ऐसा एप बनाने की कोशिश कर रहे हैं, जिसमें फोन के माइक्रोफोन से व्यक्ति की सांस लेने की आवाजों में आने वाले बड़े बदलावों को दर्ज कर संक्रमण का पता लगाया जा सकेगा। वैज्ञानिकों का दावा है कि यह प्रयोग सफल हुआ, तो सस्ते दामों में बड़े स्तर पर कोरोना टेस्टिंग की जा सकेगी।


जूनोटिक रोग क्या है? 
जूनोटिक का मतलब उन रोगों से है, जो पशुओं से मनुष्यों में होते हैं। कोरोना वायरस को जूनोटिक कहा जाता है। मसलन, गहन जांच में सार्स- कोवि वायरस कस्तूरी बिलाव से और मर्स-कोवि वायरस ऊंट से मनुष्यों में आया है। वैसे और भी कई कोरोना वायरस पशुओं में हैं, जो मनुष्यों को संक्रमित नहीं करते।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Infection will be check from the app learn questions and answers related to coronavirus