DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  घाव भरने से लेकर त्वचा में निखार लाती है गेंदे के फूल की चाय, जानें कई गजब के फायदे और बनाने का सही तरीका
लाइफस्टाइल

घाव भरने से लेकर त्वचा में निखार लाती है गेंदे के फूल की चाय, जानें कई गजब के फायदे और बनाने का सही तरीका

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Manju Mamgain
Tue, 22 Jun 2021 01:31 PM
घाव भरने से लेकर त्वचा में निखार लाती है गेंदे के फूल की चाय, जानें कई गजब के फायदे और बनाने का सही तरीका

Health Benefits Of Marigold Flower Tea: आज तक आपने गेंदे के फूल घर की बालकनी को सजाने के लिए खरीदे होंगे पर क्या आप जानते हैं गेंदे के फूलों से बनी चाय आपकी सेहत और ब्यूटी से जुड़ी कई समस्याएं भी दूर कर सकती है। सुनकर थोड़ी हैरानी हो सकती है पर यह सच है। इसमें स्किन हीलिंग, एंटी इफ्लामेशन, एंटी सेप्टिक और एंटी ऑ‍क्‍सीडेंट गुण मौजूद होते हैं। गेंदे के फूल की पंखुड़ियों का उपयोग लोग अबतक फेस पैक और हेयर मास्क बनाने के लिए करते रहे हैं। लेकिन यह  फूल विशेष रूप से ट्यूमर को रोकने और साइटोटॉक्सिक प्रभावों के लिए भी जाने जाते हैं। आइए जानते हैं गेंदे के फूल की चाय पीने से सेहत को मिलने वाले कई गजब के फायदे और उसे बनाने का सही तरीका। 

गेंदे के फूल की चाय पीने के फायदे-
घाव को करता है जल्दी हील-

गेंदे के फूल से बनी चाय का नियमित सेवन त्वचा सबंधी कई दिक्कतों को दूर करने में मदद करता है। यह स्किन पर लगे घाव को तेजी से हील करके पिंपल, एक्‍ने आदि से भी छुटकारा दिलाता है। इसके अलावा यह स्किन को एजिंग से बचाकर स्किन रैश को ठीक करने में भी मदद करता है। 

स्‍ट्रेस दूर करने में करता है मदद-
गेंदे के फूल में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट गुण स्‍ट्रेस कम करने के साथ ट्यूमर, सूजन, मोटापा, चयापचय सिंड्रोम और टाइप 2 मधुमेह आदि को भी नियंत्रित करने में मदद करता है। इसमें मौजूद यौगिक तत्‍व विटामिन ए एंटीऑक्‍सीडेंट को बढ़ाकर आपकी चाय को हेल्‍दी बनाते हैं।

दांत के दर्द में राहत-
दांतों में दर्द होने पर गेंदे के फूल की चाय को हल्का ठंडा करके उससे कुल्ला करें। मुंह में थोड़ी देर तक चाय रखें और थोड़ी देर बाद इसे मुंह से बाहर थूक दें। ऐसा करने से दांत के दर्द से राहत मिलने के साथ दांतों का इन्फेक्शन भी दूर होता है। 

कब्ज में राहत-
गेंदे के फूल की चाय पीने से कब्ज की समस्या, पेट दर्द, एसिडिटी और अपच जैसी समस्याएं दूर होती हैं।यह चयापचय क्रिया के द्वारा शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में भी मदद करती है। 

झुर्रियों को रखता है दूर-
उम्र बढ़ने के साथ चेहरे पर नजर आने वाली झुर्रियों को कम करने में गेंदे के फूल की चाय मदद करती है। गेंदे के फूलों में फायटोकॉन्सटीटूएंट्स मौजूद होता है, जो एंटी एजिंग की प्रकिया को धीमा करता है। गेंदा उत्तक के पुन: निर्माण में अच्छी भूमिका निभाता है, जिससे झुर्रियों से निजात मिल जाती है। 

गेंदे के फूल की चाय बनाने का तरीका-
गेंदे के फूल की चाय बनाने के लिए आपको सबसे पहले 4 से 5 गेंदे के फूल, दो ग्‍लास पानी और शहद की जरूरत होगी। इसे बनाने के लिए सबसे पहले एक पैन में पानी डालें और गैस में उबलने के लिए रखें। इस पानी में गेंदे के फूलों की पंखुड़ियां अलग करके डालें। पानी को अच्छी तरह से उबलने दें और कम से कम 5 मिनट तक इसे ढककर धीमी गैस पर उबलने दें। अब जब पानी अच्छी तरह उबल जाए तो गेंदे की पंखुड़ियों का रंग पानी में दिखने लगेगा। इसे तब तक उबालें जब तक कि पानी आधा न रह जाए। गैस बंद कर दें और इसे शहद डालकर सर्व करें।

Disclaimer- इस आलेख में दी गई जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

 

यह भी पढ़ें : अपने ब्यूटी रेजीम में शामिल करें जैस्मिन एसेंशियल ऑयल, हम बता रहे हैं इसके बेमिसाल फायदे

 

संबंधित खबरें